जिन्दगी मौत ना बन जाये संभालों यारों…

मऊ। ‘जिन्दगी मौत ना बन जाये संभालों यारों, दरअसल यही गीत गाकर मऊ जिले में पुलिस विभाग के एक दरोगा द्वारा जनता से घरों में रहने की अपील किया जा रहा है। साथ ही गाने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। दरोगा के इस अनोखे अंदाज को देख कर सभी तारीफ कर रहे हैं। दरोगा द्वारा देश भक्ती गीत गाया जा रहा है। साथ ही जनता से घरों में रहकर कोरोना वायरस महामारी को खत्म करने की अपील किया जा रहा है।

देशभक्ती गीत गाने वाले दरोगा जनपद के रानीपुर थाने के खुरहट पुलिस चौकी पर तैनात है। दरोगा राजन मौर्या बलिया लखनऊ राज्यमार्ग पर अपनी टीम के साथ कोरोना वायरस महामारी को खत्म करने के लिए तैनात है। दरोगा दिनों रात अपने चौकी क्षेत्र की जनता का देश भक्ती गीत के माध्यम से मनोरंजन भी कर रह रहे हैं।

इसके अलावा कड़ाई से लॉकडाउन का पालन कराने में भी लगे हुए हैं। दरोगा राजन द्वारा कई देशभक्ती गीत गाये जा रहे हैं। जिनमें ‘जिन्दगी मौत ना बन जाये संभालों यारों’ सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। सभी दरोगा के इस अंदाज को काफी पसंद कर रहे हैं। साथ ही उनकी अपील को ध्यान में रखते हुए सभी अपने घरों में रह रहे हैं।

दरोगा राजन मौर्या ने बताया कि देश मुश्किल दौर से गुजर रहा है। इस वक्त सभी को देशभक्ति दिखाने का मौका मिला है। इसलिए सभी अपने घरों में रहकर देशभक्ति दिखा सकते हैं। हम लोग सड़कों पर जनता की सुरक्षा के लिए तैनात हैं। इसलिए जनता भी अपने घरों में अपने परिवार और समाज को सुरक्षित रखने के लिए कहे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper