जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला उद्योग बन्धु समिति की बैठक सम्पन्न

बरेली, 10 जनवरी। जिलाधिकारी श्री शिवाकान्त द्विवेदी की अध्यक्षता में कल जिला उद्योग बन्धु समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई। जिलाधिकारी ने सभी विभागों विशेषकर यूपीसीडा तथा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से यह अपेक्षा की कि जनपद में आ रहे सभी निवेशकों के कार्य चाहें वह निवेश मित्र पोर्टल से संबंधित हों अथवा इससे भिन्न, उन्हें त्वरित गति से निस्तारित कराया जाये ताकि मा0 मुख्यमंत्री जी के विजन यूपी को 1 ट्रिलियन एकोनमी बनाने के लक्ष्य की दिशा में बरेली जनपद की ओर से बड़ा निवेश कराते हुए योगदान दिया जा सके। जिलाधिकारी ने दिनांक 10-12 फरवरी, 2023 को आयोजित किये जाने वाले ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के क्रम में आयोजित की जा रही इस विशेष जिला उद्योग बन्धु पर चर्चा करते हुए सभी निवेशकों को आश्वासन दिया कि इस बैठक का उद्देश्य दिनांक 18 जनवरी, 2023 को आयोजित होने वाली जनपद स्तरीय इन्वेस्टर्स समिट के पूर्व सभी समस्याओं का निस्तारण कराना है। निवेशकों के मध्य वार्ता करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद बरेली को 4500 करोड़ रूपए के निवेश का लक्ष्य दिया गया है तथा बरेली की एक विशेष भौगोलिक स्थिति है जो दिल्ली तथा लखनऊ के मध्य है एवं उत्तराखण्ड के साथ सीमा साझा करती है। उन्होंने कहा कि सभी विभागों द्वारा उद्यमियों की समस्याओं का निस्तारण त्वरित गति से किया जाए तथा जिला प्रशासन एवं उद्योग विभाग के सार्थक प्रयासों से निवेश के लक्ष्य के सापेक्ष 297 उद्यमियों द्वारा लगभग 4000 करोड़ के पूंजी निवेश प्रस्ताव विभिन्न अलग अलग सेक्टर्स जैसे पर्यटन, फूड प्रोसेसिंग, बायोफ्यूल, डेयरी, टेक्सटाईल, सर्विसेज तथा एमएसएमई के लिए प्रस्तुत किये गये हैं। उन्होंने कहा कि इन सभी निवेश प्रस्तावों को साकार किया जाये तथा उन्हें किसी भी स्तर से समस्या न आने दी जाए इससे बरेली जनपद में रोजगार सृजन के साथ-साथ सभी क्षेत्रों में चतुर्दिक विकास संभव हो सकेगा तथा मा0 मुख्यमंत्री जी की आशा के अनुरूप प्रदेश को 1 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी बनाया जा सकेगा।

जिलाधिकारी ने सभी औद्योगिक संघों विशेषकर इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन, चैम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्रीज, लघु उद्योग भारती तथा इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन द्वारा इस दिशा में की जा रही पहल का स्वागत करते हुए नये निवेशकों को सहयोग किये जाने के लिए सभी प्रमुख बैंकों का भी आवाहन किया कि वे निवेशकों को उनकी आवश्यकता के अनुरूप लोन आदि की सुविधा प्रदान करें। निवेशकों का आवाहन किया कि दिनांक 18 जनवरी, 2023 को आयोजित जनपद स्तरीय इन्वेस्टर्स समिट में अधिकाधिक संख्या में प्रतिभाग सुनिश्चित करायें, जिसमें सभी सेक्टर आधारित पॉलिसीज का प्रेजेन्टेशन एक्सपर्ट के माध्यम से आईएमए सभागार, बरेली में किया जायेगा। जिलाधिकारी ने उपस्थित निवेशकों के उत्साह का स्वागत करते हुए उन्हें प्रदेश सरकार के 1 ट्रिलियन इकोनॉमी बनाने के विजन तथा इस दिशा में प्रदेश की मंत्री परिषद तथा शासन के उच्चाधिकारियों द्वारा दुनिया के विभिन्न देशों में जाकर वहां के उद्यमियों को आमंत्रित करने की महत्वपूर्ण पहल को साझा करने के साथ ही बरेली एवं आस-पास के निवेशक अनुकूल माहौल के विषय में विस्तार से अवगत कराया तथा यह आश्वस्त किया कि प्रदेश सरकार की विजन के अनुरूप वे स्वयं तथा जनपद के अधिकारियों की सूची टीम नये निवेश तथा नये रोजगार के अवसर सृजित करने के लिए पूरी तरह प्रतिबंध है।

मुख्य विकास अधिकारी श्री जग प्रवेश ने नये निवेशकों को सरकार द्वारा निर्गत सेक्टर आधारित नीतियों से रूबरू कराते हुए उन्हें प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन की तरफ से आश्वस्त किया कि सभी नये निवेशकों तथा वर्तमान उद्यमियों को विभिन्न विभागों के स्तर से किसी प्रकार की समस्या नहीं आने दी जायेगी तथा उनकी सभी प्रकार की आवश्यकताओं को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराया जायेगा। संयुक्त आयुक्त उद्योग द्वारा निवेश मित्र पोर्टल पर लंबित प्रकरणों के संबंध में समिति को अवगत कराया कि जिलाधिकारी द्वारा दिये गये निर्देश के क्रम में सभी विभागों द्वारा निवेश मित्र पोर्टल पर लंबित प्रकरणों का तय समय सीमा के अनुसार निस्तारण त्वरित गति से किया गया है। दिनांक 01 जनवरी, 2023 को निवेश मित्र पोर्टल पर जनपद के निवेशकों के 200 से अधिक आवेदन पत्र विभिन्न विभागों में लंबित थे, जिन्हें इन्वेस्टर समिट के दृष्टिगत जिलाधिकारी द्वारा दिये गये निर्देश के क्रम में संबंधित विभागों द्वारा तय समय सीमा के पहले ही शत प्रतिशत निस्तारित कर दिया गया है। जिला कृषि अधिकारी, विद्युत सुरक्षा, अग्निशमन, फर्म सोसायटी, आबकारी विभाग, फूड सेफ्टी एण्ड ड्रग्स, श्रम विभाग के अधिकारियों द्वारा बताया गया कि निवेश मित्र पोर्टल पर उनके विभाग से लंबित प्रकरणों की स्थिति शून्य है।
संयुक्त आयुक्त उद्योग द्वारा सभी निवेशकों से अनुरोध किया कि निवेश मित्र पोर्टल की भांति नये सभी निवेशकों का ट्रैक रिकॉर्ड रखे जाने तथा एमओयू हस्ताक्षर किये जाने के लिए प्रदेश शासन द्वारा निवेश सारथी पोर्टल विकसित किया गया है। उन्होंने कहा कि सभी नये निवेशक इस पोर्टल के माध्यम से अपना निवेश इंटेण्ट अवश्य फाइल कर दें। इस पोर्टल के माध्यम से शासन स्तर पर इन्टेन्ट फाइलिंग से लेकर उद्यम स्थापना तक निवेशकों से समन्वय रखते हुए उन्हें आवश्यक सहयोग प्रदान किया जायेगा। साथ ही सभी को आश्वासन दिया कि प्रदेश सरकार द्वारा निर्गत नीतियों का लाभ दिये जाने हेतु सभी विभागों की एकीकृत ऑनलाइन पोर्टल विकसित किया जायेगा। एमएसएमई नीति के अनुदानों को प्राप्त करने की प्रक्रिया अत्यंत सुलभ एवं आसान बना दी गयी है तथा निवेशकों को अब सभी सुविधाएं आसानी से जिला उद्योग केन्द्र के सहयोग से उपलब्ध हो सकेंगी।

बैठक में यह भी चर्चा की गई कि बरेली जनपद के उत्कृष्ट औद्योगिक वातावरण के दृष्टिगत इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन, लघु उद्योग भारती एवं चैम्बर ऑफ कॉमर्स के सहयोग से दिनांक 18 जनवरी, 2023 को एक वृहद उद्यमी सम्मेलन आयोजित किया जाये, जिसमें प्रदेश सरकार द्वारा निर्गत विभिन्न नीतियों के एक्सपर्टस के तकनीकी सत्र आयोजित कर उद्यमियों, निवेशकों तथा निर्यातकों को उसकी बारीकियों से अवगत कराया जाये। इस वृहद सम्मेलन हेतु तैयारियां शुरू कर दी जाये ताकि जनपद हेतु निर्धारित निवेश लक्ष्य से कहीं अधिक निवेश के प्रस्ताव प्राप्त किये जा सकें व बरेली को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया जा सके। उद्यमी संगठनों द्वारा आश्वस्त किया गया कि वे व्यक्तिगत स्तर पर निवेशकों से वार्ता करेंगे तथा लक्ष्य से अधिक निवेश के एमओयू अगले उद्यमी सम्मेलन में हस्ताक्षरित करायेंगे। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्री जग प्रवेश, संयुक्त आयुक्त उद्योग श्री ऋषि रंजन गोयल सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी एवं उद्यमी संघों के पदाधिकारियों ने प्रतिभाग किया।

बरेली से ए सी सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper