जिला बदर कार्रवाई से रायगढ़ में मचा राजनीतिक घमासन

रायगढ़: जिला कलेक्टर द्वारा कुछ यूथ कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष लोकेश साहू को जिला बदर कर दिया गया है. जिसे लेकर पार्टी ने आपत्ति जताई है. पार्टी ने कलेक्टर द्वारा की गई इस कार्रवाई को राजनीतिक षडयंत्र बताया है. कांग्रेस की माने तो ऐन चुनाव के वक्त की गई यह कार्रवाई सीधे तौर पर कांग्रेसियों कार्यकर्ताओं को परेशान करने के लिए की गई है। युवक कांग्रेस के अध्यक्ष को जिला बदर किए जाने के मामले को शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नगेन्द्र नेगी ने राजनीतिक षड्यंत्र बता रहे है.

नेगी का कहना है कि इस मामले में खुद भाजपा विधायक ने भी लिखित रूप से शिकायत करके कांग्रेस को बदनाम करने की कोशिश की है। वही यह आरोप को जहा बिना कोई प्रत्यक्ष प्रमाण के लगाया है। इस पर राजनीतिक दलो के नेता एवं सोशल मीडिया में जिला कांग्रेस की जमकर खिल्ली उड़ाई जा रही है। विदित है कि लोकेश साहू ने जिस तरह मारपीट की घटना को अंजाम दिया था इसको लेकर कांग्रेस पार्टी के नेता भी खफा चल रहे थे। इसको लेकर जहा २१जनवरी में हुए मारपीट को लेकर 24 को नोटिस जारी कर स्पस्टीकरण मांगा गया था। इसके पश्चात क्राइम रिकार्ड को देखते हुए जिला कलेक्टर ने ३ जनवरी को तड़ीपार कर दिया। इस पूरे मामले को लेकर जिले में राजनीतिक घमासन मच गया है जिसकी गूंज प्रदेश स्तर में दे रही है।

दो दिन बाद उमेश के नेतृत्व में बैठक

कलेक्टर की कार्रवाई के बाद सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिला कांग्रेस कमेटी में मंगलवार को युवक कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष एवं खरसिया विधायक उमेश पटेल के नेतृत्व में बैठक आयोजित होना है उक्त बैठक में लोकेश मामले को लेकर जहां चर्चा एवं अध्यक्ष नामंकन से पूर्व अपने आपराधिक प्रकरणों को छुपाने का मामला गुंजमय होने की सम्भवना है। देखा जाए तो पार्टी में राहुल गांधी के दिशा निर्देश का उलंघन किया गया है इसको लेकर बड़े नेता काफी नाराज है। वही सूत्रों से यह भी बात छनकर आ रही है कि विधानसभा उपाध्यक्ष रानू यादव को प्रमोट कर प्रमोशन दिया जाएगा।

पहले नोटिस अब नाक बचाने बचाव

युवा नेता लोकेश साहू को लेकर जिले में जहां राजनीतिक घमासान मची हुई है,वही प्रशासनिक कार्रवाई से पूर्व २१ जनवरी को जन अधिकार यात्रा के दौरान प्रदेश अध्यक्ष के दौरा के समय लोकेश एवं उसके साथियों ने जमकर मारपीट की थी इसको लेकर जिला कांग्रेस कमेटी अनुशासन विरुद्ध कृत्यों को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए पूछा था कि क्यो ना पार्टी से ६ साल के लिए निष्काषन कर दिया जाए। इसके अलावा आपराधिक मामले को छुपाए जाने पर भी सवाल उठाए थे। इस नोटिस के बाद यह तो स्प्ष्ट है कि युवा नेता की हरकत असमान्य असहज खुद कांग्रेस पार्टी महसूस कर रही है फिर भी इस तरह का बचाव कितना उचित है। देखा जाए तो इसे जिला कांग्रेस नाक बचाने की तर्ज पर बचाव में लगी हुई है।

25 से अधिक मामले फिर भी अपराधी नही?

जिला जिला कलेक्टर ने लोकेशन कड़ी कार्रवाई करते हुए जिला बदर की है वही लोकेशन पर 25 से अधिक अपराधिक मामले विभिन्न थानों में दर्ज है इसमें कई गंभीर अपराध की श्रेणी में भी आते हैं। परंतु इन सभी बच्चों के बावजूद जिला कांग्रेस कमेटी लोकेश साहू को पत्रकार वार्ता आयोजित कर पाक साफ बताने में लगी हुई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper