‘जुल्म से निजात दिलाओ’, PoK के परिवार ने पीएम नरेंद्र मोदी से की अपील

मुजफ्फराबाद: पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर के एक परिवार ने पीएम नरेंद्र मोदी से जुल्म से निजात दिलाने की अपील की है। मुजफ्फराबाद के एक परिवार को प्रशासन ने उसके घर से बाहर निकाल दिया है और इसके चलते उन्हें सर्द मौसम में सड़क पर ही रात गुजारनी पड़ रही है। अब परिवार के मुखिया ने पीएम नरेंद्र मोदी से मदद और इस मामले में दखल देने की अपील की है। शख्स का कहना है कि वह और उसकी पत्नी बच्चों के साथ खुले आसमान के नीचे गुजारने को मजबूर हैं। वायरल वीडियो में मलिक वसीम ने अपील की है कि उन्हें और परिवार को बचाने के लिए भारत सरकार को दखल देना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं मुजफ्फराबाद प्रशासन की ओर से प्रताड़ना झेल रहा हूं।

वसीम मलिक ने कहा, ‘पुलिस और प्रशासन ने हमारे घर को सील कर लिया है। मेरा कहना है कि यदि हमें कुछ भी होता है तो उसके लिए मुजफ्फराबाद के कमिश्नर और तहसील जिम्मेदार होंगे।’ वीडियो में वसीम मलिक के अलावा उनकी पत्नी और बच्चे भी दिखते हैं, जो सड़क पर ही बैठे हैं। मुजफ्फराबाद से सूत्रों के हवाले से न्यूज एजेंसी एएनआई ने बताया कि एक लोकल प्रशासन ने उन्हें घर से बाहर निकाल दिया है और एक प्रभावशाली शख्स ने उनकी जमीन पर कब्जा जमा लिया है। पुलिस की मदद से उस शख्स ने इनके घर पर कब्जा जमा लिया है। शख्स का कहना है कि यह जमीन भारत की है और इसका मालिकाना हक गैर-हिंदुओं और मुस्लिमों के पास है।

‘PM मोदी से है अपील, पाकिस्तान को सिखाएं सबक’
उन्होंने कहा कि पुलिस ने हजारों परिवारों के घरों को सील कर लिया है और लोगों को सर्द रातों में सड़कों पर ही जिंदगी गुजारनी पड़ रही है। ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जब पीओके में प्रभावशाली लोगों ने मकान कब्जा लिए हैं। वसीम मलिक ने कहा, ‘मैं पीएम नरेंद्र मोदी से अपील करता हूं कि वे पाकिस्तान को सबक सिखाएं। यह आपकी प्रॉपर्टी है। यह संपत्ति गैर-मुस्लिमों और सिखों की है। आएं और लोगों को इन अत्याचारों से निजात दिलाएं।’ एक पुलिस अधिकारी सबर नकवी का नाम लेते हुए वसीम ने कहा कि आज इन लोगों ने हमें घर से बाहर कर दिया है। आखिर किस कानून के तहत इन लोगों ने हमें घर से बाहर निकाला है।

वसीम मलिक ने दी आत्महत्या करने की धमकी
बता दें कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में कई बार स्थानीय लोग प्रशासन के अत्याचारों के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं। पीओके भारत के जम्मू कश्मीर प्रांत का ही अभिन्न हिस्सा है, जिस पर पाकिस्तान ने अवैध कब्जा जमा रखा है। अक्टूबर 1947 के बाद से ही यह हिस्सा पाकिस्तान के कब्जे में है और अकसर लोग उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं। यह इलाका पाकिस्तान के पिछड़े हिस्सों में से एक है। वसीम मलिक ने घर वापस न मिलने पर आत्महत्या करने की भी धमकी दी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper