जेल में मिलने पहुंची पत्नी को देखकर मुख्तार का उमड़ा प्यार, पड़ा दिल का दौरा

अश्वनी श्रीवास्तव


लखनऊ : जिला कारागार बाँदा में बंद पूर्वांचल के बाहुबली माफिया सरगना मुख्तार अंसारी को मंगलवार को दिन में करीब एक बजे दिल का दौरा पड़ गया. यह हादसा उस समय हुआ जब जेल में उनकी पत्नी उनसे मुलाकात करने पहुंची थी. पति मुख्तार को जैसे ही दिल का दौरा पड़ा, ये सदमा उनकी पत्नी बर्दाश्त नहीं कर सकीं और चंद सेकेंडों में उनको भी दिल का दौरा पड़ गया, दोनों की हालत गंभीर देखते हुए उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहाँ उनकी हालत नाजुक देखते हुए अस्पताल के डाक्टरों ने उन्हें लखनऊ क्व लिए रेफर कर दिया.

जानकार सूत्र बताते हैं की मुख्तार और उनकी पत्नी बाँदा से लखनऊ के लिए निकल चुके हैं. यहाँ लारी हॉस्पिटल में उन्हें इलाज के लिए लाया जा रहा है. जहाँ पहले से ही उनके जानने वाले लोग पहुँच चुके हैं. बाँदा से सीधे लारी हॉस्पिटल में ही उन्हें एंबुलेंस से लाया जा रहा है. बताया जाता है कि लंबे समय से जेल में बंद मुख्तार अंसारी काफी दिन से परेशान है. बताया जाता है कि जैसे- जैसे उम्र के पड़ाव मुख्तार लांघते जा रहे हैं,उनके भीतर अपने परिवार के प्रति प्रेम बढ़ता जा रहा है. आय दिन उन्हें अपने बेटे और परिवार के अन्य लोगों की याद सताती रहती है. इसलिए वह अब अपने परिवार को लेकर काफी चिंतित रहने लगे हैं.

इसी को लेकर आज दिन में जब उनकी पत्नी उनसे मिलने पहुंची, तो पहले उन्होंने उनसे उनका और परिवार का हालचाल पूछा और अचानक उनकी हालत बिगड़ गयी. इसके बढ़ कुछ ही मिनट में उनको दिल का दौरा पड़ गया. पति को दिल का दौरा पड़ने के सदमे को उनकी पत्नी बर्दाश्त नहीं कर सकी और उन्हें भी दिल का दौरा पड़ गया. मुख्तार और उनकी पत्नी को दिल का दौरा पड़ने की खबर मिलते ही बाँदा जेल में हड़कंप मच गया. आनन- फानन में जेल प्रशासन ने दोनों को जिला अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया, जहाँ डाक्टरों ने उनकी हालत नाजुक देखते हुए दोनों को लखनऊ में इलाज के लिए रेफर कर दिया.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper