जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जुड़ेंगा इंटीग्रेटेड टाउनशिप,ट्रांसपोर्ट और लॉजिस्टिक हब,जाने क्या है तैयारी

 


ग्रेटर नोएडा में नई दिल्ली इंडस्ट्रियल कॉरिडोर के तहत 3 बड़े प्रोजेक्ट का विकास किया जा रहा है.पहला इंटीग्रेटेड टाउनशिप, दूसरा मल्टिमॉडल ट्रांसपोर्ट हब और तीसरा मल्टिमॉडल लॉजिस्टिक हब हैं.

2.5 किलोमीटर का रास्ता किया जाएगा चौड़ा-

इन तीनों परियोजनाओं को नोएडा एयरपोर्ट से जोड़ने की तैयारी की जा रही है. आपको बता दें कि यह तीनों प्रोजेक्ट आपस में इंटर कनेक्टेड होंगे. इन परियोजनाओं को एयरपोर्ट से जुड़ने के लिए दो रास्ते अपनाए गए हैं. पहला रोड लॉजिस्टिक हब से जीटी रोड तक जाएगा. इस परियोजनाओं को अंतिम रूप देने के लिए 2.5 किलोमीटर रास्ते को चौड़ा किया जाएगा.

दनकौर के पास बनेगा इंटरचेंज-

यहां 2 लेन से 6 लेन तक बनाने का प्रस्ताव पारित किया गया है.शिव नाडर यूनिवर्सिटी के पास जीटी रोड को जोड़ते हुए अंडरपास भी बनाया जायेगा, जिससे लॉजिस्टिक हब से वाहन बील अकबरपुर इंटरचेंज से ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे होते हुए यमुना एक्सप्रेसवे तक पहुंच सकेंगे. दूसरा रास्ता ट्रांसपोर्ट हब से 130 मीटर रोड के जरिए सिरसा इंटरचेंज से ईस्टर्न पेरिफेरल व यमुना एक्सप्रेसवे होते हुए वाहन नोएडा एयरपोर्ट तक पहुंच सकेंगे.

दो लाख लोगों को मिलेगा रोजगार-

इस निर्माण से 200000 लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है. नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट योगी सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट है और इसी एयरपोर्ट के निर्माण के बाद उत्तर प्रदेश में रोजगार के अवसर में बढ़ोतरी होगी. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस परियोजना के लिए प्रस्ताव सरकार को भेज दिया गया है और जैसे यह प्रस्ताव पास होगा यह कार्य शुरू कर दिया जाएगा. आपको बता दें कि इस एयरपोर्ट के निर्माण से अप्रत्यक्ष रूप से भी कई रोजगार के अवसर लोगों को मिलेंगे. सरकार द्वारा जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास प्लास्टिक पार्क, फिल्म सिटी और कई तरह के अन्य निर्माण भी हो रहे हैं. इन निर्माण के तहत लोगों को रोजगार के अवसर भी मिलेंगे जिससे उत्तर प्रदेश में बेरोजगारी प्रत्यक्ष रूप से कम होगी.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper