जैसलमेर से लगती भारत‑पाक सीमा पर BSF का ऑपरेशन एलर्ट

जैसलमेर। जैसलमेर से लगती भारत पाक अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर सीमा सुरक्षा बल द्वारा ऑपरेशन एलर्ट शुरू किया जा रहा है जो की 17 अगस्त तक जारी रहेगा। स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर तथा मौसम व तेज आंधियों, बवंडर आदि के समय संभावित घुसपैठ रोकने व अतिरिक्त चौकसी के लिए इस अभियान के दौरान गश्त बढ़ाने के साथ ही सुरक्षा नाकों की संख्या में बढ़ोतरी की जायेगी।

ऊटों से गश्त और पैदल निगरानी की जांच बढ़ायी गयी है। संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त जवानों को तैनात किया गया है। सीमा सुरक्षाबल के राजस्थान में पाकिस्तान से लगती सीमा के निकट निगरानी के लिए ऑपरेशन एलर्ट शुरू किया जा रहा है।

सीमा सुरक्षाबल के उपमहानिरीक्षक एम एस राठौड़ ने दूरभाष पर बताया कि गर्मी के मौसम में अंतररराष्ट्रीय सीमा क्षेत्रों के क्रियाकलापों में और ज्यादा मजबूती लाने के लिए यह ऑपरेशन चलाया जाएगा। जिसका मुख्य उद्देश्य सीमा पार से होने वाली घुसपैठ आदि के प्रयासों से निपटना है। सीमा सुरक्षा बल द्वारा ये ऑपरेशन एलर्ट 17 अगस्त तक चलेगा।

इस अभियान के दौरान गश्त बढ़ाने के साथ ही सुरक्षा नाकों की संख्या में बढ़ोतरी की जाएगी। ऊटों से गश्त और पैदल निगरानी की जांच को बढ़ाया जा कर संवेदनशील इलाकों ओर रेतीले धोरो में अतिरिक्त जवानों को तैनात किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि गर्मी में तापमान सामान्य से अधिक डिग्री सेल्सियस होने पर या फिर तेज धूल भरी आंधियों के कारण कुछ फुट की दूरी पर देखना मुश्किल होता है।

ऐसी विपरीत एवं विषम भौगोलिक परिस्थितियों में सीमा पार से घुसपैठ की आशंका बनी रहती है। जिस पर अंकुश लगाने के लिए ऑपरेशन एलर्ट है. ताकि घुसपैठ तथा अवांछनीय गतिविधियों को रोका जा सके। कोरोना महामारी के चलते बल द्वारा मास्क, सेनेटाइजर व दो गज दूरी का विशेष ध्यान रखा जा रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper