जॉगिंग के दौरान ऑटो की टक्कर से जज की मौत, मंत्री के आदेश पर जांच के लिए बनी विशेष टीम

धनबाद: धनबाद में मार्निंग वाक से लौट रहे जिला एवं सत्र न्यायाधीश अष्टम उत्तम आनंद (50 वर्ष) की बुधवार की सुबह ऑटो की टक्कर से मौत हो गई। न्यायाधीश गोल्फ ग्राउंड से टहल कर वापस हीरापुर बिजली ऑफिस के बगल में स्थित अपने क्वार्टर लौट रहे थे। रणधीर वर्मा चौक से चंद कदम की दूरी पर गंगा मेडिकल के सामने हादसा हुआ। पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई है। फुटेज देखने के बाद पुलिस ऑटो चालक की मंशा पर सवाल उठा रही है। पोस्टमार्टम के लिए डीसी के आदेश पर आनन-फानन में मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया। डॉक्टरों की टीम ने देश शाम न्यायाधीश के शव का पोस्टमार्टम किया। बताया जा रहा है कि सिर में गंभीर चोट के कारण उनके कान से रक्तश्राव हो गया।

ब्रेन हेम्ब्रेज से मौत की बात कही जा रही है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सह धनबाद जिले के प्रभारी मंत्री बन्ना गुप्ता ने जज की मौत की जांच का निर्देश दिया है। उन्होंने डीसी संदीप कुमार व एसएसपी संजीव कुमार को मामले की जांच के लिए उच्च स्तरीय समिति बनाने और एक सप्ताह में रिपोर्ट देने को कहा है। उन्होंने कहा कि उत्तम आनन्द की मौत की परिस्थितियां संदिग्ध है। सामाजिक संस्थाओं और न्यायिक संस्थाओं ने मौत पर सवाल उठाए हैं। जांच जरूरी है। मंत्री बन्ना गुप्ता ने उत्तम आनंद के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा है कि वे न्यायिक व्यवस्था के मजबूत स्तम्भ थे, और उन्होंने पीड़ितों को हमेशा इंसाफ दिलाने के लिए कदम उठाए। मंत्री के आदेश के बाद पुलिस ने विशेष जांच दल का गठन कर जांच शुरू कर दी है।

सीसीटीवी फुटेज में कैद हुआ हादसा
टक्कर लगने के बाद न्यायाधीश सड़क किनारे अचेत अवस्था में गिर पड़े और ऑटो चालक फरार हो गया। टक्कर की वीडियो रणधीर वर्मा चौक पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। जिस तरह से ऑटो चालक ने सड़क किनारे आकर न्यायाधीश उत्तम को पीछे से टक्कर मारी है इससे ऑटो चालक की मंशा पर गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि ऑटो चालक ने जानबूझ कर उत्तम आनंद को टक्कर मारी। सीसीटीवी देखने के बाद पुलिस की कई टीमें ऑटो की तलाश में जुट गई है। फुटेज में ऑटो का नंबर स्पष्ट नहीं हो पा रहा है। रणधीर वर्मा चौक पर लगे सभी कैमरों के फुटेज को देखा जा रहा है। इस सड़क पर लगे अन्य सीसीटीवी को भी खंगाला जा रहा है।

पत्नी की शिकायत पर फास्ट हुई पुलिस
न्यायाधीश उत्तम आनंद हर दिन की तरह सुबह साढ़े चार बजे जॉगिंग के लिए निकले थे। सुबह साढ़े आठ बजे तक जब वे घर नहीं लौटे तो उनकी पत्नी ने न्यायिक पदाधिकारियों को मामले की जानकारी दी। धनबाद थाने को भी इस संबंध में सूचना दी गई। सुबह साढ़े आठ बजे उनकी तलाश शुरू हुई। किसी ने पुलिस को सूचना दी कि गंगा मेडिकल के सामने सड़क किनारे खून गिरा हुआ है। इसके बाद अस्पतालों में खोजबीन शुरू की गई तो एसएनएमएमसीएच में एक व्यक्ति को दुर्घटना के बाद भर्ती कराने की सूचना मिली। जब पुलिस ने एसएनएमएमसीएच में संपर्क किया तो बताया गया कि सुबह साढ़े पांच बजे किसी अज्ञात ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया था। सिर में गंभीर चोट लगने के कारण सुबह नौ बजे उन्होंने अस्पताल के सर्जिकल आईसीयू वार्ड के बेड पर दम तोड़ दिया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper