ज्यादा पानी पीना हो सकता है खतरनाक, ताजा वायरल वीडियो में किया गया है यह दावा

नई दिल्ली: आजकल कई हेल्थ एक्सपर्ट लोगों को तीन लीटर या उससे ज्यादा पानी पीने की सलाह दे रहे हैं। लेकिन एक वायरल वीडियो में ऐसा दावा किया गया है कि पानी के कारण शरीर का ओवर हाइड्रेशन सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। यह दावा न्यूट्रिशनिस्ट रेनू रखेजा ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो में किया है।इस वीडियो को अब तक करीब 33 लाख से ज्यादा लोग देख चुके हैं।

रखेजा ने इस वीडियो के कैप्शन में लिखा, ‘ओवरहाइड्रेशन के कारण शरीर में इलेक्ट्रोलाइट लेवल गिर सकता है। इसका स्तर घटने से सिरदर्द और मांसपेशियों में कमजोरी की शिकायत हो सकती है।’इलेक्ट्रोलाइट में पोटाशियम, सोडियम और मैग्नीशियम होता है। यानी इलेक्ट्रोलाइट का लेवल घटने से इन तमाम पोषक तत्वों की भी कमी होती है। ये सभी चीजें हमारी किडनी और हार्ट (हृदय) के सही फंक्शन के लिए बहुत जरूरी होती हैं। इलेक्ट्रोलाइट का लेवल घटने से किडनी और हार्ट पर इसका बुरा असर पड़ सकता है। एक्सपर्ट के मुताबिक, ‘रोजाना अत्यधिक पानी पीने से आपकी कोशिकाएं ओवर सैचुरेटेड हो जाती हैं, क्योंकि वो पानी के मिनरल रेशियो को फिर से बैलेंस करने का प्रयास करती हैं।’ रखेजा ने इस वीडियो में ओवर हाइड्रेशन के और भी कई नुकसान बताए हैं। ओवर हाइड्रेशन ब्रेन फॉग, वेट गेन (वजन बढ़ना) और सिरदर्द की समस्या बढ़ा सकता है। रखेजा ने पानी पीने को लेकर भी कुछ टिप्स भी अपने फॉलोअर्स के साथ साझा किए हैं।

उनका सुझाव है कि इंसान को सिर्फ उसी वक्त पानी पीना चाहिए जब उसे प्यास लगती है। बाकी समय आप तरबूज, पालक या कुछ हरी सब्जियों की मदद से भी अपने शरीर को हाइड्रेट रख सकते हैं। जरूरत के हिसाब से नारियल पानी, चाय, कॉफी, जूस से भी बॉडी को हाइड्रेट किया जा सकता है। बता दें ‎कि पानी से होने वाले फायदों के बारे में हमें शुरुआत से ही बताया जाता रहा है। पानी न सिर्फ हमारी बॉडी को हाइड्रेट रखता है, बल्कि इसमें मौजूद गुणकारी तत्व भी सेहत को फायदा पहुंचाते हैं। ताजा ‎विडियो से लोगों में भ्रां‎ति पैदा हो रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper