टिक टॉक ने भारत को दी 100 करोड़ की मदद, कोरोना के खिलाफ लड़ने को दिए हजमत सूट

मुंबई: इंटरनेट के इस दौर में विडियो शेयरिंग एप TikTok के चाहने वालों की संख्या देखी जाए तो इंडिया में सबसे ज्यादा हैं, आए दिन हजारों टिकटॉक विडियोज अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर भी तेजी से वायरल होते हैं, यहां तक की कई टैलेंटेड इंडियन इससे स्टार भी बन गए हैं.

130 करोड़ आबादी वाले देश भारत में TikTok पर शहर से लेकर गांव का आदमी जुड़ा है, शायद यही वजह है कि चीन के इस मशहूर एप के ओनर ने 10 करोड़ से ज्यादा यूजर्स वाली कंट्री के लिए दिल खोला है. जी हां, इंडिया में टिक टॉक द्वारा डॉक्टरों व स्वास्थ्य कर्मियों के लिए 4 लाख प्रोटेक्टिव हजमत (Hazmat) सूट देने की पेशकश की है, इनकी कीमत 100 करोड़ बताई जा रही है.

दिनांक 1 अप्रैल 2020 को 20,675 सूट का पहला बैच पहुंचा दिया गया है जबकि शेष इस शनिवार को पहुंचाए जाने हैं. उनके द्वारा अधिकारिक बयान में कहा गया है कि उन्होंने दिल्ली और महाराष्ट्र सरकारों को 2 लाख मास्क दान किए हैं.

टिक टॉक इंडिया के CEO निखिल गांधी (Nikhil Gandhi) ने कैबिनेट मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) को लैटर लिखते हुए सोर्सिंग, लॉजिस्टिक्स और डिलीवरी के लिए धन्यवाद कहा. जहां एक तरफ देश में कोरोना (Coronavirus) के हर दिन केसज बढ़ रहे हैं तो दूसरी तरफ स्वास्थ्य कर्मियों के पास दस्ताने, काले चश्मे, मास्क, स्पेशियलाइज्ड ओवरऑल्स जैसी जरुरी चीजों की कमी हो रही है.

यह भी पढ़ें: Prabhas: बाहुबली ने संक्रमण काल में दिखाई दरियादिली, डोनेट किए इतने करोड़
भारत में कोरोना मरीजों की संख्या 2014 हो चुकी है, प्रति दिन की बात करें तो 250 प्लस की दर से नए केसज सामने आ रहे हैं, 2 अप्रैल तक मरने वालों की संख्या 56 पहुंच चुकी है. ऐसे में जान जोखिम में डाल रहे डॉक्टर्स व स्वास्थ्य सेवा में जुटे लोगों के लिए हजमत सूट जरुरी हैं.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper