टीचर करता रहा 28 लड़कियों का यौन शोषण, CCTV में कैद होती रही घिनौनी हरकत

नई दिल्ली: टीचर को इस दुनिया में माता-पिता के बाद सबसे अहम दर्जा दिया जाता है लेकिन अमेरिका में इस दर्जे को कलंकित करने का मामला सामने आया है। अमेरिका के एक स्कूल में टीचर के द्वारा पहली क्लास की 28 लड़कियों के का यौन शोषण करने की घटना सामने आई है। टीचर की इस काली करतूत का खुलासा सीसीटीवी फुटेज की जांच के बाद हुआ है।

मिली जानकारी के अनुसार यह मामला अमेरिका के ओहियो का है। यहां स्कूल में फिजिकल एजुकेशन पढ़ाने वाले और बाद में ट्रेनर के तौर पर काम करने वाले जॉन ऑस्टिन हॉपकिन्स ने अपने स्कूल में पहली क्लास में पढ़ने वाली 28 लड़कियों को अपवी हवस का शिकार बनाया है। जानकारी के मुताबिक, टीचर छात्राओं का उनके क्लासमेट के सामने ही शोषण करता था। करीब 3 महीने तक टीचर ऐसा करता रहा, लेकिन अधिकारियों को खबर नहीं पहुंची।

सबसे पहले पैरेंट्स ने बच्ची को गलत तरीके से छूने का आरोप लगाया जिसके बाद टीचर ने स्कूल से इस्तीफा दे दिया था। लेकिन अधिकारियों ने जब बाद में घटना की पड़ताल कि तो इस दौरान टीचर लड़कियों के साथ गलत हरकत करते हुए सामने आया। प्रॉसिक्यूटर ने कहा कि 90 दिनों के सिक्योरिटी फुटेज की जांच की गई. ये फुटेज दिसंबर 2018 के मार्च 2019 के बीच के थे। इस मामले में कोर्ट ने 25 साल के टीचर को पहली क्लास की 28 लड़कियों के साथ अपराध के लिए दोषी करार दिया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper