टोंक में तनाव बरकरार, बंद रहे बाजार

टोंक: हिन्दू संगठनों की भगवा रैली में पथराव के बाद हिंसक झड़पों व आगजनी की वारदातों के बाद सोमवार को भी तनाव के हालात बने रहे वहीं अधिकांश व्यापारियों ने बाजारों में दुकानें बंद रखीं। इतना ही नहीं जिन व्यापारियों ने दुकानें खोलीं उन्होंने भी सामान पूरी तरह से बाहर नहीं रखा।साम्प्रदायिक तनाव को ध्यान में रखते हुए शहर में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। अजमेर रेंज की आईजी मालिनी अग्रवाल ने सोमवार को पथराव एवं आगजनी इलाकों का दौरा किया साथ ही कोतवाली पुलिस थाना अधिकारियों की बैठक ली जिसमें साम्प्रदायिक हिंसक झड़पों के बाद के हालातों की समीक्षा की।

इस मामले में पुलिस सहित दोंनो पक्षों की तरफ से अब तक एक दर्जन मुकदमें दर्ज किए गए हैं जिसमें भगवा रैली में धार्मिक स्थल से पथराव एवं तलवार से जानलेवा हमले व दुकानों में आगजनी के मामले शामिल हैं। टोंक में रविवार को हिन्दू संगठनों की ओर से हिन्दू नववर्ष के तहत निकाली गई भगवा रैली में बड़ा कुआ जामा मस्जिद के सामने अचानक पथराव के बाद तनाव हो गया था जिस दौरान देखते ही देखते दोनों तरफ से पथराव शुरू हो गया। इसके चलते शहर में अफरा तफरी मच गई। इतना ही नही भगवा रैली के बाद आगजनी एवं हिंसक झड़पों में एएसपी अवनीश शर्मा सहित एक दर्जन लोग घायल हो गए, साम्प्रदायिक हिंसा के बाद टोंक में धारा 144 लगा दी गई।

घटना की सूचना मिलते ही अजमेर रेंज की आईजी मालिनी अग्रवाल एवं विधायक अजीतसिंह मेहता ने इलाकों का दौरा किया। जिन्होंने साफ शब्दों में कहा कि किसी भी सूरत में दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। सूत्रों के मुताबिक रविवार को हिन्दू युवा नववर्ष समारोह समिति की ओर से भगवा रैली निकाली जा रही थी जिस दौरान बडा कुॅंआ स्थित एक धार्मिकस्थल के बाहर अचानक पत्थरबाजी हो गई जहां देखते ही देखते हो दनं पक्षं की तरफ से किए गए पथराव के बाद तनाव हो गया। जिसके बाद मोहल्ले व चौराहों के नजदीक जमा भीड़ ने बेगुनाह से न सिर्फ मारपीट की बल्कि दुकानों में आग लगाई गई इतना ही नहीं आधा दर्जन वाहन को आग के हवाले कर दिया। साम्प्रदायिक हिंसक झड़पों में 13 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए जिनको सआदत अस्पताल में भर्ती कराया है।

वहीं दो दर्जन को गंभीर हालत में जयपुर रैफ र किया गया हैं। बड़ा कुआं क्षेत्र में हुए तनाव के बाद सबीलशाह चौकी के पास डिप क्षेत्र में वाहनों को आग लगाई गई है वहीं बड़े कुएं सहित शहर में हालात तनाव पूर्ण हो गए। इस दौरान रोजाना की तरह चौराहों के बैठने वालों असामाजिक तत्वों व मनचलें युवकों जहां भी मौका मिला अकेला व्यक्ति देखा उसको रोका और मारपीट शुरू कर दी इस तरह की वारदातों में घायल होकर सआदत अस्पताल पहुॅंचे घायलों का कहना है कि तलवार जैसे धारदार हथियार काम में लिए गए हैं। साम्प्रदायिक झड़पों के बाद टोंक एसपी योगेश दाधीच एवं एडीएम लोकेश गौतम सहित एएसपी अवनीश शर्मा व डीएसपी संजय शर्मा पुलिस जाप्ते के साथ शहर में बिगडती स्थिति को संभालने में जुटे रहें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper