ठेले पर बैठकर ड्यूटी के लिए कोविड केयर सेंटर जा रहे डॉक्टर साहब

पटना: बिहार में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 20 हजार के पार पहुंच गया है. कहीं लोगों को इलाज नहीं मिल पा रहा है, तो कहीं कोविंड-19 हॉस्पिटल ही बाढ़ की चपेट में आ गए हैं. बिहार की दुर्दशा से आम लोगों के साथ ही खुद नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) कार्यकर्ता भी परेशान हैं.

कल ही एक तस्वीर सामने आई थी, जिसमें एक डॉक्टर ठेले पर बैठकर कोविड-19 सेंटर में जा रहा था. यह तस्वीर बिहार के सुपौल की थी. सुपौल के कोविड-19 सेंटर में पानी भर गया था. इस वजह से डॉक्टर अमरेंद्र कुमार को ठेले पर बैठकर कोविड-19 सेंटर जाना पड़ा. बिहार में स्वास्थ्य सुविधाओं का बुरा हाल है.

बिहार में राज्यपाल निवास से लेकर मुख्यमंत्री आवास तक कोरोना संक्रमण की जद में है. पिछले दिनों सीएम नीतीश कुमार की भतीजी कोरोना पॉजिटिव मिली थी. कल राज्यपाल निवास के कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. इसके अलावा बिहार बीजेपी दफ्तर में कोरोना संक्रमण फैल गया है. प्रदेश अध्यक्ष समेत कई नेता कोरोना संक्रमित हैं.

पिछले दिनों गृह विभाग के अवर सचिव उमेश रजक की कोरोना से मौत हो गई थी. पटना एम्स में उन्होंने अंतिम सांस ली थी. इलाज के लिए उन्हें 24 घंटे तक अस्पताल के बाहर फर्श पर उन्हें इंतजार करना पड़ा था. जब इसका वीडियो वायरल हुआ तो उन्हें भर्ती लिया गया था. यह वीडियो तेजस्वी यादव ने भी शेयर किया था.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper