डायबिटीज से बचने के लिए रात में 2 चम्मच त्रिफला चूर्ण का करें सेवन, इन बीमारियों से भी रहेंगे सुरक्षित

Triphala Benefits : डायबिटीज से बचने के लिए रात में 2 चम्मच त्रिफला चूर्ण का करें सेवन, इन बीमारियों से भी रहेंगे सुरक्षितभारत में आज भी ऐसे कई सारे लोग हैं जो अंग्रेजी दवाओं का सेवन ना करके कई सारे फल और जड़ी बूटियों से बनने वाली औषधि का प्रयोग अपने स्वास्थ्य को दुरुस्त रखने के लिए करते हैं। इन औषधियों में ऐसे गुणकारी असर भी होते हैं जो स्वास्थ्य समस्या से बचाए रखने में सक्रिय रूप से अपनी भूमिका अदा करते हैं। ऐसा ही एक गुणकारी चूर्ण का नाम त्रिफला है।

त्रिफला चूर्ण आंवला, बहेड़ा और हरड़ से मिलकर तैयार होता है। इन तीनों से तैयार होने के कारण यह चूर्ण औषधीय गुणों से और भी भरपूर हो जाता है जिसका सेवन आपको कई बीमारियों से बचाए रख सकता है जिसके बारे में नीचे आपको पूरी जानकारी दी जा रही है।
​डायबिटीज के लिए मददगार
जिन लोगों को डायबिटीज से बचे रहना है उनके लिए भी यह चूर्ण काफी फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि इसके नियमित सेवन से खून में मौजूद ब्लड ग्लूकोज का स्तर काफी कम हो जाता है। जिसके कारण यह डायबिटीज के खतरे से आपको बचा सकता है। इसके अतिरिक्त इसमें एंटी डायबेटिक गुण भी पाया जाता है, जो टाइप 2 डायबिटीज के जोखिम से भी बचाए रखने में मदद कर सकता है।

​डिटॉक्स के रूप में
डिटॉक्सीकरण एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके अंतर्गत शरीर में मौजूद हानिकारक गंदगी बाहर निकलती है। यह आपके शरीर के विभिन्न अंगों को सक्रिय रूप से चलाने के लिए बहुत जरूरी है जिसके लिए त्रिफला चूर्ण का सेवन काफी उपयोगी साबित होगा। इसके लिए आप रात में त्रिफला चूर्ण को एक गिलास पानी में घोलकर पीएं। आपको कुछ ही दिन में इसका असर देखने को मिलेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper