डालर के मुकाबले रुपए के टूटने से पड़ेगा रंग में भंग, महंगे होंगे टीवी-फ्रिज

मुंबई: आपकी त्यौहारी खरीददारी के रंग में भंग पड़ने वाला है। डॉलर के मुकाबले रुपए की कीमत गिरने से टीवी, फ्रिज और दूसरे उपभोक्ता वस्तुएं महंगी होने वाली हैं। विभिन्न कंपनियां जल्दी ही नए दामों की घोषणा करने वाली हैं। डॉलर के मुकाबले रुपए की कीमत में लगातार गिरावट आ रही है। रुपए की लगातार कमजोरी अर्थव्यवस्था के लिए चिंता की बड़ी वजह बनी हुई है। वहीं, इसका सीधा असर आपकी जेब पर भी पड़ने वाला है। अगर आप फ्रिज, टीवी, एसी या लैपटॉप जैसे उत्पाद खरीदना चाहते हैं, तो इनके लिए अब आपको अपनी जेब ज्यादा ढीली करनी होगी।

दरअसल इन उत्पादों को बनाने में उपयोग होने वाले कुछ उत्पादों का आयात किया जाता है। डॉलर के मुकाबले रुपए में लगातार कमजोरी होने की वजह से इंपोर्ट महंगा हो रहा है। आयात महंगा होने से जो ब्रांड और रिटेलर अपना सामान आयात करते हैं, उनके दाम बढ़ जाएंगे। इसका असर कंज्यूमर ड्यूरेबल और इलेक्ट्रॉनिक सामान पर पड़ेगा। कच्चे माल के बढ़ते दाम से ज्यादातर कंपनियां टीवी, फ्रिज, एसी, लैपटॉप जैसे सामान की कीमतें 3-5 फीसदी तक बढ़ाने की तैयारी में हैं। इन उत्पादों की नई कीमतें 700 रुपए से लेकर 3000 रुपए के बीच बढ़ने की उम्मीद है। ये नई कीमतें अगस्त अंत या सितंबर से लागू हो जाएंगी।

जुलाई में फ्रिज, टीवी पर जीएसटी 28 फीसदी से घटकर 18 फीसदी होने की वजह से कंपनियों और ग्राहकों को फायदा मिला था। डॉलर के मुकाबले रुपए की घटती कीमत से कंपनियों को मिला यह फायदा हल्का पड़ गया है। कंपनियों के मुताबिक अगर डॉलर का भाव 72 के पार चला जाता है तो उन्हें एक बार फिर कीमतें बढ़ानी पड़ सकती हैं। इसका असर विभिन्न उत्पादों की त्यौहारी सीजन में होने वाली बिक्री पर भी पड़ेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper