डिप्टी सीएम ने जनपद में विभिन्न विकास कार्यों तथा निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक की

बरेली: उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कल कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद में विभिन्न विकास कार्यों तथा निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। माननीय उप मुख्यमंत्री श्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि कहा कि ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में विकास कार्यों को क्रियान्वित करने वाले सम्बंधित विभागों की कार्य प्रणाली में प्रत्येक स्तर पर सुधार लाने की आवश्यकता है तथा विकास कार्यों का लाभ वास्तविक पात्रों तक पहुंचे, इसके लिए प्रयत्न करना हम सभी का दायित्व है। उन्होंने कहा कि जनपद में गौ आश्रय स्थलों की स्थिति में सुधार लाने के हर संभव प्रयत्न किए जाएं। उन्होंने कहा कि लम्पी स्किन रोग से बचाव के लिए गौशालाओं में आश्रित गौवंश का टीकाकरण, सैनेटाइजर, चूना छिड़काव, साफ-सफाई आदि की समुचित व्यवस्था की जाए। उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए कि जनपद की सीमाओं में आने-जाने वाले पशुओं को रोकथाम की जाये और यह भी कहा कि इस पर विशेष ध्यान दिया जाये।  मा0 उप मुख्यमंत्री जी ने जल निगम विभाग द्वारा जल जीवन मिशन (हर घर नल योजना) के अन्तर्गत किये जा रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए अधिशासी अभियन्ता जल निगम को निर्देश दिए कि सीवर लाइन, पाइप लाइन आदि के हुए कार्यों से खराब हुई सड़कों का निर्माण सही ढंग से किया जाये। उन्होंने अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए कि जनपद की खराब सड़कों को चिन्हित कर लें और बरसात के बाद उन सभी सड़कों को तत्काल ठीक कराया जाये। उन्होंने सम्बंधित अधिकारी को निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री सुमंगला योजना के अन्तर्गत प्रगति लाने के निर्देश दिए।

मा0 उप मुख्यमंत्री जी ने अपर निदेशक स्वास्थ्य, मुख्य चिकित्साधिकारी तथा सीएमएस को निर्देश दिए कि प्रतिदिन सीएचसी, पीएचसी तथा उप केंद्रों का निरीक्षण किया जाये। निरीक्षण के दौरान उस क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों से भी सम्पर्क किया जाए। उन्होंने कहा कि सभी चिकित्सक प्रातः 08 से ओपीडी में बैठकर मरीजों को देखें। उन्होंने कहा कि चिकित्सक सुविधा दिए जाने के लिए पर्याप्त मात्रा में डॉक्टर हैं और दवाइयां भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि जब दवाईयां खत्म होने से एक सप्ताह पूर्व सम्बंधित दवाईयों की मांग कर ली जाए, जिससे मरीजों को किसी प्रकार की दवाइयां देने में असुविधा न हो। उन्होंने कहा कि मनोचिकित्सक के पास कम मरीज आते हैं उनको ओपीडी बैठा कर के मरीजों को खांसी, जुकाम तथा बुखार आदि के मरीजों देखकर दवाइयां दें। उन्होंने अपर निदेशक स्वास्थ्य को निर्देश दिए कि मुख्य चिकित्साधिकारी के साथ बैठक कर आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत युद्ध स्तर पर आशाओं को ट्रेंड करते हुए ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों के फोटो खींचकर अपलोड किया जाए, जिससे आयुष्मान भारत योजना में प्रगति लाई जा सके।  उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि बूस्टर डोज में प्रगति लाई जाये।

मा0 उप मुख्यमंत्री जी ने मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा किए गए स्वास्थ्य केन्द्रों तथा उपकेन्द्रों का निरीक्षण किये जाने का सही जवाब न दिये जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए सुधार लाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सीएचसी तथा पीएचसी में सुविधाएं होते हुए भी प्रायः यह देखने को मिलता है कि मरीजों को जिला अस्पताल में रेफर कर देते हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य केन्द्र पर एक रजिस्टर रखा जाए उस रजिस्टर में रेफर मरीज का कारण जरूर अंकित किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में साफ-सफाई, खाना तथा दवाइयों आदि की उचित व्यवस्था रखी जाये। मा0 उप मुख्यमंत्री जी ने अपर निदेशक स्वास्थ्य, मुख्य चिकित्साधिकारी, डिप्टी सीएमओ तथा सहायक चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि सभी प्रत्येक दिन सरकारी अस्पताल में जाकर ओपीडी मे बैठेगें जिससे सही ढंग से कार्य हो सकेगा और जमीन स्तर पर मूल्यांकन होगा। उन्होंने सभी डॉक्टरों को निर्देश दिए कि सभी सीएचसी, पीएचसी तथा स्वास्थ्य केन्द्रों पर नियमित व समय से बैठक कर मरीजों को देखें। उन्होंने कहा कि सरकार के लिए गरीब से भी गरीब आदमी सबसे वीआईपी है। इस लिए प्रत्येक गरीब लोगों का अच्छे तथा वीआईपी ढ़ग से इलाज हो। उन्होंने सीएचसी एवं पीएचसी में भोजन व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिए और भोजनालय में काम करने वाली   महिलाओं का विशेष ध्यान देने पर जोर दिया जाए।

मा0 उप मुख्यमंत्री जी ने बेसिक शिक्षा में सुधार के लिए प्रशासन स्तर पर निरीक्षण पर जोर दिया जाये। इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि हमने पहले ही सभी उप जिलाधिकारियों से कहा कि अपने-अपने क्षेत्र के सभी प्राथमिक विद्यालयों का नियमित निरीक्षण करें। उन्होंने कहा कि माध्यमिक शिक्षा के अन्तर्गत सरकार द्वारा कायाकल्प योजना के तहत जिले 75 एडेड कालेज हैं, जिसमें से 6 विद्यालयों को कायाकल्प योजना में शामिल किया जा चुका है। प्रधानमंत्री सड़क योजना के अन्तर्गत बनी सड़कों का जिले के जनप्रतिनिधियों ने कई शिकायतें मा0 उप मुख्यमंत्री से की और बताया कि सड़कों का निर्माण बहुत खराब ढ़ग से की गई जिससे कि पीएमजेसीवाई सड़कें जिले की काफी खराब हो गई हैं। इस पर मा0 उपमुख्यमंत्री जी वर्षा के बाद पीडब्लूडी विभाग के अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग तुरंत ठीक कराया जाये।

मा0 उप मुख्यमंत्री जी ने जनपद बरेली के लॉ एंड आर्डर की समीक्षा की। उन्होंने गंभीर अपराध पर रोक लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि गंभीर अपराध आपसी रंजिश के कारण होते हैं। उन्होंने मोबाइल छिनैती, चैन छिनैती और चोरी के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए। मा0 उप मुख्यमंत्री जी जिले के लॉ एंड आर्डर से संतुष्ट थे इसके लिए पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को शाबासी दी। उन्होंने बिजली विभाग में हो रहे सुधार के लिए भी ऊर्जा विभाग के अधिशासी अभियंता की प्रशंसा की।

बैठक में माननीय महापौर श्री उमेश गौतम, माननीय एमएलसी श्री कुंवर महाराज सिंह, माननीय विधायक बिथरी चैनपुर डॉ0 राघवेन्द्र शर्मा, माननीय विधायक कैंट श्री संजीव अग्रवाल, माननीय विधायक नवाबगंज डॉ0 एमपी आर्य, माननीय विधायक मीरगंज डॉ0 डी0सी0 वर्मा, जिलाधिकारी श्री शिवाकान्त द्विवेदी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज, नगर आयुक्त श्रीमती निधि गुप्ता वत्स, बीडीए उपाध्यक्ष श्री जोगिन्दर सिंह, मुख्य विकास अधिकारी श्री जग प्रवेश, जिला सूचना अधिकारी श्री योगेन्द्र प्रताप सिंह सहित अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

बरेली से ए सी सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper