डॉक्टरों के साथ की थी बदसलूकी, अब कोरोना से बचाने के लिए गिड़गिड़ा रहे जमाती

कानपुर: देश-दुनिया में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में तबलीगी जमात से जुड़े तीन लोगों को हैलट अस्पताल स्थित आइसोलेशन वॉर्ड में भर्ती कराया गया था। शुरुआत में इस बात की शिकायत मिली की ये तीनों इलाज में डॉक्टरों का सहयोग नहीं कर रहे हैं। हालांकि, जब स्थिति बिगड़ने लगी तो कोरोना से संक्रमित तीनों लोग मेडिकल स्टाफ के सामने बिलख-बिलखकर रोने लगे। यही नहीं, इन लोगों ने हेल्थ वर्कर्स के सामने गिड़गिड़ाकर जान बचाने का आग्रह किया।

हैल अस्पताल के सीएमओ डॉक्टर अशोक शुक्ला कहते हैं, ‘शुरुआत में ये तीनों वक्त पर दवा नहीं खाते थे, डॉक्टरों का सहयोग भी नहीं करते थे। लेकिन अब वे पूरी तरह से डॉक्टर्स, नर्सों की बात मान रहे हैं। बाकी रोना वगैरह यह मनोवैज्ञानिक असर है। जब भी कोई शख्स बहुत ज्यादा डर जाता तो इस तरह की प्रतिक्रिया देता है।’

कानपुर डीएम ब्रह्म देव राम तिवारी कहते हैं, ‘हमारे जिले में कुल 11 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित थे। इनमें से 1 का पूरी तरह उपचार किया गया और वह अब ठीक भी हो गया है। जिले में तकरीबन 3 हजार लोगों ने पलायन किया। इन सभी को क्वारंटीन किया गया है। जिले में हर शख्स पर करीब से नजर रखी जा रही है ताकि कोई भी अव्यवस्था न फैले। हमें स्थानीय लोगों का सहयोग भी मिल रहा है। हम इस परिस्थिति में लोगों से अपील कर रहे हैं कि सभी बहुत सजगता और सुरक्षा के साथ रहें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें ताकि कोरोना को पूरी तरह से खत्म किया जा सके।’

बढ़ रहा है संक्रमित लोगों का आंकड़ा
अब गौर किया जाए उत्तर प्रदेश में कुल संक्रमित लोगों की संख्या पर तो यहां कोरोना से ग्रस्त लोगों का आंकड़ा 400 को पार कर चुका है। देश की बात की जाए तो भारत में 5800 से ज्यादा लोग इस गंभीर वायरस की चपेट में आ चुके हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper