डॉ. वैभव खन्ना ने किया स्तन का सफल आपरेशन

लखनऊ: राजधानी के विश्व-प्रशंसित स्तन न्यूनन विशेषज्ञ, डॉ. वैभव खन्ना, सेशेल्स गणराज्य के सेशेल्स अस्पताल में 20 से 27 मार्च तक आयोजित एक निःशुल्क चिकित्सा शिविर में 3 सदस्यीय विशेषज्ञ चिकित्सक दल का नेतृत्व कर रहे हैं। इस विशेषज्ञ चिकित्सा दल की यात्रा सेशेल्स के स्वास्थ्य मंत्रालय के सहयोग से जियो ज्योति फाउंडेशन ऑफ इंडिया (जे.जे.इंडिया) द्वारा आयोजित की गई है।

स्थानीय तौर पर महिलाओं में ब्रेस्ट रिडक्शन सर्जरी सबसे अधिक प्रचलित है और सेशेल्स में इसे एक कारगर शल्य चिकित्सा के रूप में जाना जाता है। कई महिलाएं स्तनों के अत्यधिक वजन के लक्षणों से उत्पन्न पीड़ाओं से ग्रसित होती हैं जिसके कारण गर्दन और पीठ में दर्द के अलावा शरीर के विभिन्न भागों में भी शारीरिक दर्द की समस्या हो सकती है। डॉ0 खन्ना के प्रवास के दौरान इस चिकित्सा शिविर में कुल 19 स्तन न्यूनन सर्जरी प्रस्तावित हैं। डॉ0 खन्ना ने बताया कि स्तन कम करने की सर्जरी एक अत्यन्त प्रभावी उपचार है क्योंकि लक्षणों के कारणों से इसका सीधे तौर पर सरोकार है, और ज्यादातर महिलाएं स्तन न्यूनन सर्जरी के परिणामों से बेहद संतुष्ट हैं।

उनके अनुसार, भारी स्तनों के कारण कई महिलाएं गर्दन और रीढ़ की हड्डी तक अत्यधिक दर्द से पीड़ित होती हैं और ऐसे रोगी जो गंभीर दर्द से ग्रस्त हैं उन्हें स्तन न्सूनर सर्जरी की तुरन्त आवश्यकता होती है। उन्होंने समझाया कि चिकित्सोपरान्त स्तनों के छोटे, हल्के एवं मजबूत होने से रोगी को पीठ या गर्दन के दर्द से निजात मिल जाती है और कुछ निश्चित समय के बाद सर्जरी के निशान या धब्बे दूर हो जाते हैं।

एलिजाबेथ लाफोयून नामक महिला को पिछले आठ सालों से शारीरिक दर्द हो रहा था और कल ही उसने इस चिकित्सा शिविर में निःशुल्क स्तन न्यूनन सर्जरी की सेवा का लाभ उठाया, इस उम्मीद के साथ कि इससे उसकी जिंदगी में सकारात्मक बदलाव आयेगा। एलिजाबेथ के अनुसार, सबसे पहले वह अपनी बाहों और कंधों में पीठ की समस्या और दर्द महसूस करती थी। आखिरकार, उसे मदद प्राप्त करने के लिए एक दशक से भी अधिक समय लगा क्योंकि उसे हमेशा लगता था कि यह दर्द उसके सम्पूर्ण शारीरिक वजन के कारण है और ना कि स्तनों से सम्बन्धित। लेकिन, अब स्तन न्यूनन सर्जरी के बाद एलिजाबेथ पहले की तुलना में काफी हल्का महसूस कर रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper