डोनाल्ड ट्रंप की फटकार पर बोले आसिफ, नहीं चाहिए अमेरिकी मदद

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा है कि अमेरिका अफगानिस्तान की लड़ाई के लिए पाकिस्तान के संसाधनों का इस्तेमाल करता है और उसी की कीमत चुकाता है। उन्होंने कहा कि अमेरिका का बारबार धमकाना ठीक नहीं है। पाकिस्तान इसे किसी तरह बर्दाश्त नहीं करेगा। पाक के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा हम जल्दी ही सच्चाई दुनिया के सामने लाने वाले हैं। इस पर हमें अमेरिका से सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं है।

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने नए साल पर पाकिस्तान को जमकर फटकार लगाते हुए ट्वीट किया, ‘अमेरिका ने मूर्खतापूर्ण ढंग से बीते 15 सालों में पाकिस्तान को 33 अरब डॉलर की सहायता दी है, लेकिन बदले में हमें झूठ और छल के अलावा कुछ भी नहीं मिला। हमारे नेताओं को मूर्ख समझा गया। वे आतंकियों को सुरक्षित पनाहगाह देते रहे और हम अफगानिस्तान में खाक छानते रहे। अब और नहीं।’ पाक के विदेश मंत्री ने इस ट्वीट के जवाब में जल्द सच्चाई सामने लाने की बात की थी।

ख्वाजा आसिफ ने कहा, ‘हमने अमेरिका को पहले ही कह दिया है कि अब हम उसके लिए ‘और नहीं’ करेंगे। इसलिए ट्रंप के ‘नोर मोर’ का कोई महत्व नहीं है।’ पाकिस्तान को अरबों डॉलर फंड देने को लेकर ट्रंप के दावे पर उन्होंने कहा, ‘यदि हमने यह लिया है तो इसमें पाकिस्तान द्वारा दी गई सेवाओं के बदले भुगतान भी शामिल है। ट्रंप अफगानिस्तान में हार से दुखी हैं और इसलिए वह पाकिस्तान पर दोष मढ़ रहे हैं। हमारी जमीन, रोड, रेल और दूसरी सेवाओं का इस्तेमाल किया गया और इसके बदले हमें भुगतान किया गया। इसका ऑडिट भी हुआ है।’

आसिफ ने कहा पाकिस्तान फंड को रोके या नहीं, लेकिन पाकिस्तान को इसकी जरूरत नहीं है। ट्रंप अपने प्रशासन से पूछ सकते हैं कि पाकिस्तान को फंड क्यों दिया गया। आसिफ ने पाकिस्तान के हित को सबसे ऊपर बताते हुए कहा, ‘हमें किसी और दूसरे देश के हित की रक्षा नहीं करनी है। हमारी प्राथमिकता पाकिस्तान की भलाई है। हमारा हित उनसे अलग है और हम उनके सहयोगी नहीं बनेंगे।’ ट्रंप के ट्वीट को लेकर उन्होंने कहा, ‘इस तरह की तानाशाही किसी कीमत पर स्वीकार्य नहीं है।’ एक दिन पहले उन्होंने ट्रंप के ट्वीट के जवाब में कहा था, ‘हम राष्ट्रपति ट्रंप के ट्वीट पर जल्दी ही जवाब देंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper