तस्लीमा ने किया #MeeToo का समर्थन, कहा-गंगोपाध्याय ने मेरे साथ किया था यौन र्दुव्‍यवहार : तसलीमा

नई दिल्ली: लम्बे समय से बांग्लादेश से निर्वासित जीवन जी रहीं नामचीन और चर्चित लेखिका तसलीमा नसरीन ने मी टू अभियान का समर्थन करते हुए कहा कि उनके साथ भी जब कोलकाता में सुप्रसिद्ध बांग्ला कवि सुनील गंगोपाध्याय ने यौन छेड़खानी की थी और उन्होंने उसका खुलासा किया था, तो उस वक्त लोगों ने उनकी हंसी उड़ाई थी। उन्होंने कहा कि मी टू में नाम आने के बाद भारत सरकार में मंत्री एम जे अकबर को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

एक खास बातचीत में तसलीमा नसरीन ने कहा कि जब वह कोलकाता में थीं और एक मुलाकात में वहां के नामचीन कवि सुनील गंगोपाध्याय ने उनके साथ यौन र्दुव्‍यवहार किया, प्राइवेट पार्ट को प्रेस किया तो उन्हें एकबारगी यकीन नहीं हुआ कि वह ऐसा कर सकते हैं। मैं उन्हें भाई की तरह मानती थी और उनका बहुत सम्मान करती थी। उस हरकत के बाद वह मेरी नजर से गिर गए। लेकिन दुख इस बात का भी हुआ कि जब मैंने इस बात का खुलासा किया तो मेरे वहां के दोस्तों और लोगों ने ही मेरी हंसी उड़ाई थी।

हालांकि सुनील गंगोपाध्याय ने उस वक्त तसलीमा नसरीन द्वारा उन पर लगाए गए आरोप का खंडन किया था और कहा था कि वह र्चचा में आने के लिए ऐसा कर रही हैं। गंगोपाध्याय का निधन वर्ष 2012 में हो गया था।एक सवाल के जवाब में तसलीमा ने कहा कि जब मी टू में भारत सरकार के एक राज्य मंत्री का नाम आ गया है और कई महिलाओं ने आरोप लगाए हैं तो उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। उन्होंने कहा कि महिलाओं को अपने खिलाफ होने वाली किसी भी तरह की हिंसा और छेड़खानी से डरना नहीं चाहिए, बल्कि उन्हें उसकी शिकायत करनी चाहिए और जनता में उनका पर्दाफाश करना चाहिए। उसका विरोध करना चाहिए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper