ताजमहल, लाल किला और कुतुबमीनार समेत देश के सभी स्मारक 31 तक बंद, यूपी में परीक्षाएं स्थगित

नई दिल्ली: कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के लिए सरकार हरसंभवन कदम उठा रही है। इसके रोकने के लिए एक और महत्वपूर्ण कदम के तहत ताजमहल और लाल किला सहित देश के तमाम ऐतिहासिक स्मारकों को 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है। वहीं विश्वविख्यात स्मारक ताजमहल का निर्माण कराने वाले मुगल बादशाह शाहजहां का 21 मार्च से आयोजित होने वाला वार्षिक उर्स भी इस साल नहीं होगा। इतिहास में यह पहला मौका है, जब सलाना उर्स नहीं आयोजित होगा।

इससे पहले, ताजमहल सिर्फ 1971 पाकिस्तान युद्ध के समय दो सप्ताह के लिए बंद किया गया था और 1978 में बाढ़ के कारण दो दिन के लिए बंद किया गया था। इस बार कोरोना वायरस के असर को देखते हुए इस विश्वविख्यात इमारत को बंद किया गया है। केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री प्रहलाद पटेल ने ट्वीट करके यह जानकारी दी।

बता दें कि कोरोना के प्रकोप को देखते हुए केंद्र सरकार ने कुछ दिन पहले ही 15 अप्रैल तक कई देशों के सैलानियों के वीजा रद्द करने के आदेश दिए थे। उसके बाद से ही ताज और अन्य स्मारक को देखने वालों की संख्या में कमी आई थी। अभी भी कुछ विदेशी पर्यटक ताजमहल देखने आ रहे थे। इसके साथ ही, राजधानी दिल्ली स्थित ऐतिहासिक लाल किला, कुतुबमीनार सहित देशभर के तमाम स्मारकों और संग्रहालयों को 31 मार्च तक बंद रखने का निर्देश दिया गया है।

इस बीच, यूपी में सभी स्कूल, कॉलेज और मल्टीप्लेक्स 2 अप्रैल तक बंद कर दिए गए हैं और परीक्षाएं भी स्थगित कर दी गई हैं। मंगलवार को सीएम योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में यह निर्णय लिया गया। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में कोरोना के पीड़ित मरीजों की संख्या 13 है जिसमें से 12 भारतीय और 1 विदेशी नागरिक हैं। हालांकि इसमें से चार लोग कोरोना से पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। वहीं, देश में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 125 हो गई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper