तीन सौ नहीं, अब छह सौ पर नजर : अश्विन

नागपुर: श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले दिग्गज गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन ने अपने कैरियर के 300 टेस्ट विकेट पूरे कर लिए हैं। इस उपलब्धि पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में अश्विन ने कहा वह इस आंकड़े को डबल करना चाहते हैं। विदर्भ क्रिकेट संघ स्टेडियम पर खेले गए मैच में अश्विन सबसे तेजी से कैरियर के 300 विकेट पूरे करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं।

अश्विन ने 54वें टेस्ट मैच में यह आंकड़ा छुआ है। इस सूची में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज डेनिस लिली को पछाड़ते हुए पहला स्थान हासिल कर लिया है। अश्विन ने 54 टेस्ट मैचों में 300 विकेट पूरे किए हैं, वहीं लिली ने 56 टेस्ट मैचों में 300 विकेट पूरे करने का रेकॉर्ड बनाया था। अश्विन ने कहा मैं उम्मीद कर रहा हूं कि 300 विकेट की इस उपलब्धि को मैं 600 विकेट में तब्दील कर सकूं। मैंने अभी केवल 54 टेस्ट मैच ही खेले हैं। उन्होंने कहा कि स्पिन गेंदबाजी उतनी आसान नहीं है जितनी यह नजर आती है।

दूसरे टेस्ट से पहले अश्विन को 300 विकेट पूरे करने के लिए आठ विकेट और लेने थे। जो उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में हासिल किए। भारतीय टीम ने विदर्भ क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में श्रीलंका को एक पारी और 239 रनों से हरा दिया। इस टेस्ट मैच में अश्विन ने कुल आठ विकेट लिए और इसके साथ ही उन्होंने 300 विकेट पूरे करने की उपलब्धि भी हासिल कर ली। अश्विन ने सबसे तेजी से 300 विकेट पूरे करने वाले भारतीय गेंदबाजों में सबसे ऊपर रहने वाले अनिल कुंबले को पछाड़ कर यह उपलब्धि हासिल की है।

कुंबले ने 66 मैचों में 300 विकेट लिए थे, जबकि अश्विन ने 54 मैचों में ही यह उपलब्धि हासिल कर ली है। अश्विन ने कहा यह कोई आसान काम नहीं है। इसमें काफी मेहनत लगती है। मैंने और रवींद्र जड़ेजा ने काफी गेंदबाजी की थी। उन्होंने कहा कि टीम की ओर से हाल ही में मिले अवकाश से हमें श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के लिए तरोताजा होने में काफी सहायता मिली।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper