तीरथ सिंह रावत पर भड़कीं जया बच्‍चन, कहा-‘कपड़े नहीं डिसाइड करते कल्चर,ये एक घटिया सोच जो महिलाओं पर होने वाले अपराधों को बढ़ाती’

मुंबई: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के रिप्‍ड जींस वाले बयान की हर तरफ निंदा हो रही है। उन्होंने हिलाओं के रिप्‍ड जींस पहनने पर उनके विचार को लोग गलत ठहरा रहे हैं। आम से लेकर बाॅलीवुड एक्ट्रेसेस मुख्यमंत्री के इस बयान पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

Bollywood Tadka

हाल ही में इस  मामले पर एक्ट्रेस और राज्‍यसभा सांसद जया बच्‍चन का रिएक्शन सामने आया है। उन्होंने कहा- ‘ऐसे बयान एक मुख्यमंत्री को शोभा नहीं देते हैं। जो इस पोस्ट पर बैठे हैं, उन्हें कोई भी बयान देने से पहले सोचना चाहिए, फिर बयान देना चाहिए। आप आज के जमाने में ऐसे बयान दे रहे हैं। अब क्या आप किसी का कल्चर कपड़ों से डिसाइड करेंगे। यह एक घटिया सोच है जो महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों को बढ़ावा देती है।’

Bollywood Tadka

इससे पहले जया बच्चन की नातिन नव्या नवेली नंदा ने मुख्यमंत्री के इस बयान पर पर उन्हें खरी खोटी सुनाई थी। नव्या ने अपनी इंस्टा स्टोरी पर फटी जींस पहने हुए की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा- ‘हमारे कपड़े बदलने से पहले अपनी मानसिकता बदलो। मैं अपनी रिप्ड जींस पहनूंगी। थैंक्यू। मैं उन्हें गर्व से पहनूंगी।’

एक्‍ट्रेस गुल पनाग ने भी सीएम तीरथ सिंह रावत को अपने अंदाज में जवाब दिया है। उन्‍होंने इंस्टाग्राम पर बेटी के साथ अपनी एक तस्‍वीर शेयर की जिसमें वह रिप्ड जींस पहने दिख रही हैं। तस्वीर में गुल की बेटी ने भी जींस टॉप पहन रखा है। इसे शेयर करते हुए उन्‍होंने #RippedJeansTwitter लिखा।

Bollywood Tadka

सीएम तीरथ सिंह रावत ने महिलाओं के फटी जींस पहनने को लेकर बयान दिया। उन्होंने कहा- ‘आजकल महिलाएं फटी जींस पहनती हैं। उनके घुटने दिखते हैं, ये कैसे संस्कार हैं? ये संस्कार कहां से आ रहे हैं। इससे बच्चे क्या सीख रहे हैं और महिलाएं आखिर समाज को क्या संदेश देना चाहती हैं।’

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper