तो इस कारण राजस्थान रॉयल्स से जुड़े वॉर्न

नई दिल्ली: दो साल के प्रतिबंध के बाद राजस्थान रॉयल्स की आईपीएल सत्र में वापसी हुई है। इस बार दिग्गज आस्ट्रेलियाई स्पिनर शेन वॉर्न एक बार फिर से राजस्थान से ही खेलेंगे। इस स्पिनर ने आखिरी बार 2011 आईपीएल में खेला था। इसके बाद उन्होंने संन्यास का एलान कर दिया। इससे पहले वॉर्न की टीम ने राजस्थान को 2008 में चैंपियन बनाया।

वॉर्न एक कप्तान के तौर पर आईपीएल में अच्छे रहे, लेकिन 2008 सीजन के बाद उनकी टीम लगातार अच्छा प्रदर्शन करने में सफल नहीं रही। सूत्रों के अनुसार वॉर्न राजस्थान से जुड़ना नहीं चाहते थे पर टीम के कोऑनर मनोज बडाले ने वार्न को अधिकार विशेष और अच्छी फीस के वादे के साथ टीम से जोड़ा। आईपीएल के सबसे पहले सीजन यानी 2008 में जब टूर्नामेंट की शुरुआत हुई थी, तो राजस्थान रॉयल्स टीम के कप्तान वॉर्न ही थे और उनकी कप्तानी में राजस्थान ने खिताब जीता था।

अब वॉर्न के टीम के साथ जुड़ने की खबर है। वॉर्न ने भी ट्वीट कर वापसी की बातों को सही बताया है। वॉर्न ने अपने ट्वीट में लिखा ‘मैं इस हफ़्ते जल्द एक बड़ा एलान करने वाला हूं और इसको लेकर मैं काफी उत्साहित हूं। जी हां ये आईपीए 2018 से जुड़ा है। राजस्थान ने इस साल ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ को कप्तान बनाया है। इसके अलावा टीम ने ऑक्शन में सबसे बड़ी बोली लगाते हुए इंग्लैंड के बेन स्टोक्स को 12.5 करोड़, तो भारत के जयदेव उनादकट को 11.50 करोड़ में टीम का हिस्सा बनाया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper