थाईलैंड की गुफा में फंसे फुटबालरों में से छह को बाहर निकाला

बैंकाक: थाइलैंड की गुफा में दो सप्ताह से फंसे स्कूल फुटबॉल टीम के 13 सदस्यों में से छह बच्चों को रविवार को सुरक्षित निकाल लिया गया। फिलहाल बचाव कार्य दस घंटे के लिए रोक दिया गाया है।स्थानीय राहत अधिकारी ने बताया कि उत्तरी चियांग राई प्रांत के अधिकारियों ने फुटबॉल टीम के 12 बच्चों और उनके कोच को बाहर निकालने के खतरनाक अभियान की शुरूआत रविवार सुबह की। राहत टीम के सदस्य एवं चियांग राई प्रांत के स्वास्य विभाग के प्रमुख टोस्साथेप बूनथोंग ने कहा, छह बच्चों को बाहर निकाल लिया गया है।

उन्हें गुफा के निकट फील्ड अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बूनथोंग ने कहा,हम उनका शारीरिक परीक्षण कर रहे हैं। उन्हें अभी चियांग राई अस्पताल भेजा नहीं गया है। ये सभी लोग गत 23 जून को गुफा में फंस गए थे। बचाव दल के प्रवक्ता ने पिछले दिनों बताया था कि सभी का स्वास्य अच्छा है और गुफा से उनके बचाए जाने तक सैनिक उनके साथ रहेंगे। बच्चों को पिछले दिनों गोताखोरी सिखने की भी ट्रेनिंग दी गई ताकी उन्हें निकालने में ज्यादा परेशानी नहीं हो। कैसे फंसे बच्चे : सभी स्कूली बच्चे 23 जून को फुटबॉल खेलने के बाद गुफा देखने गए थे।

इसी दौरान गुफा के भीतर बाढ़ का पानी घुस आया और सभी बच्चे और कोच फंस गए। उसके बाद नेशनल पार्क के कर्मचारियों को गुफा के पास मोटर बाइक, साइकिल और खेल उपकरण मिला. इसके बाद उन्होंने जब स्थानीय फुटबाल क्लब से संपर्क किया तो पता चला कि 12 स्कूली बच्चे, जिनकी उम्र 11 से 16 साल हैं और 25 साल का कोच गुफा में फंसे हुए हैं। बाढ़ को देखते हुए थाइलैंड प्रशासन ने गुफा में फंसे बच्चों को बाहर निकालने के लिए बचाव अभियान शुरू किया। इस गुफा की लंबाई 10,316 मीटर बताई जाती है और बच्चे करीब चार किलोमीटर भीतर फंसे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper