थाईलैंड में गुफा से बचाए गए बच्चों ने साझा किए अनुभव, कहा- बाहर आना चमत्कार जैसा

चियांग राय: थाईलैंड में पानी से भरी गुफा से जोखिमपूर्ण अभियान चलाकर बचाए गए 12 बच्चों और उनके फुटबॉल कोच ने पहली बार संवाददाता सम्मेलन में अपने असाधारण अनुभवों को साझा किया।संवाददाता सम्मेलन में जब ‘‘वाइल्ड बोर्स’ के सदस्य उत्तरी थाईलैंड की थाम लुआंग गुफा में अंधेरे में बिताये अपने नौ दिनों के बारे में सवालों के जवाब दे रहे थे तब वे स्वस्थ और खुश नजर आ रहे थे। अंतरराष्ट्रीय बचाव दल ने उन्हें खोजा था। यहां अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद लोगों ने इन किशोरों का स्वागत किया।

इन किशोरों ने संवाददाता सम्मेलन में जाने से पहले एक अस्थायी मैदान में फुटबॉल भी खेला। वाइल्ड बोर्स के फुटबॉलर अब्दुल सैम ओन (14) ने बचाव के बारे में कहा, ‘‘यह एक चमत्कार है।’ बच्चों से उनके भयावह अनुभव के बारे में बड़े प्यार से सवाल किये गये। जब टीम गुफा में अंदर फंस गयी तब उसके पास खाने को कुछ नहीं था। गुफा के अंदर दीवारों से रिस रहे पानी को पीकर जिंदा रहे। लेकिन डॉक्टरों ने कहा है कि अस्पताल में स्वास्य लाभ के बाद सभी 13 लोग सेहतमंद हैं।

यह ब्री¨फग बहुत ही नियंत्रित थी क्योंकि विशेषज्ञों ने संभावित दीर्घकालिक तनाव की चेतावनी दे रखी थी। सियांग राय के जन संपर्क विभाग ने मीडिया संगठनों से पहले ही सवाल मंगा लिये थे और उन्हें मनोचिकित्सकों के भेज दिया था। थाईलैंड के जुंटा नेता प्रयुत चान ओ चा ने आज मीडिया से इन बच्चों से सवाल पूछने के दौरान सावधानी बरतने की अपील कर रखी थी और उनसे ऐसे सवालों से बचने को कहा था कि जिनसे बच्चों को नुकसान पहुंचे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper