दशाश्वमेध घाट के पास दो दशक से अटके भवन में टूरिस्ट प्लाजा का रास्ता साफ

वाराणसी: दशाश्वमेध घाट के पास दो दशक से अटके भवन में टूरिस्ट प्लाजा का रास्ता साफ हो गया है। 22 करोड़ 26 लाख रुपये से अर्द्धनिर्मित भवन को पूरा कराया जाएगा। वीडीए ने अगस्त से ही निर्माण कार्य शुरू कराने की योजना बनाई है। एक साल में दो मंजिला टूरिस्ट प्लाजा तैयार करना है।

वीडीए ने इसके लिए टेंडर जारी कर दिया है। दशाश्वमेध घाट पुनर्विकास योजना के तहत इसका निर्माण होगा। टूरिस्ट प्लाजा में 180 दुकानें बनेंगी। इसमें कुछ दुकानें स्थानीय दुकानदारों को भी मिलेंगी।टूरिस्ट प्लाजा में काशी विश्वनाथ मंदिर का कार्यालय भी खुलेगा। यहां से श्रद्धालु टिकट और प्रसाद ले सकेंगे। इसके अलावा फूड कियोस्क, हेल्थ डेस्क, पर्यटक लाउंज जैसी सुविधाएं होंगी।

1980 के दशक में इस जगह शॉपिंग काम्प्लेक्स बनना शुरू हुआ था, लेकिन ऐतिहासिक महत्व के घाटों के पास निर्माण और अन्य विवादों के कारण काम रोक दिया गया था। लंबी कानूनी प्रक्रिया में फैसला आने व और ऑर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई) की अनुमति मिलने से टूरिस्ट प्लाजा का निर्माण संभव हुआ है।

टूरिस्ट प्लाजा बनने से क्षेत्र में व्यवस्थित तरीके से पार्किंग की सुविधा भी मिलेगी। वीडीए उपाध्यक्ष राहुल पाण्डेय ने बताया कि घाट किनारे यह एक महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट है। जुलाई तक टेंडर प्रक्रिया पूरी होने की उम्मीद है, इसके बाद निर्माण कार्य शुरू करा दिया जाएगा।

राहत भरी खबर: यूपी के 23 जिलों में 24 घंटे में एक भी कोरोना का केस सामने नहीं आया

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper