दाद-खाज-खुजली से हैं परेशान, इस फूल से मिट जाएगा नामो-निशान, बस इस्तेमाल करने की विधि जान लें

न्यूज डेस्क: अगर आप दाद, खाज और खुजली की समस्या से परेशान हैं तो आपको ज्यादा परेशान होने की जरुरत नहीं हैं। क्यों की आज हम आपको एक ऐसे फूल के बारे में बताने जा रहे हैं। जिस फूल के द्वारा आप दाद-खाज-खुजली की समस्या को ख़त्म कर सकते हैं तथा उसका नामों निशान मिटा सकते हैं। तो आइये इसके बारे में जानते हैं विस्तार से। गेंदे के फूल और पत्तियां दाद-खाज-खुजली की समस्या में बेहतर साबित होती हैं।

आयुर्वेद के मुताबिक गेंदे में कई तरह के एंटी फंगल और एंटी एलर्जिक गुण होते हैं जो दाद, खाज या खुजली जैसी समस्याओं को जड़ से दूर कर देते हैं। इससे खुजली की परेशानी दूर हो जाती हैं। साथ ही साथ त्वचा पर दिखाई देने वाले लाल धब्बे भी दूर हो जाते हैं।

इस्तेमाल करने की विधि

गेंदे के फूल का रस निकालें या इसे पीसकर पेस्ट बना लें। इसके बाद गेंदे की पतियों को पीसकर उसका रस निकाले। इसके बाद दोनों को मिलाकर पेस्ट तैयार करें। फिर इस पेस्ट को दाद-खाज-खुजली बाले स्थान पर लगाए। चार से पांच दिन लगातार ऐसा करेंगे तो इसका नामों निशान मिट जायेगा और आपकी ये परेशानी भी खत्म हो जाएगी। इसलिए आप इसका इस्तेमाल जरूर करें।

गेंदे की पत्तियों को पानी में डालकर उबाल लें। इसे उबालने के बाद ठंडा होने के लिए छोड़ दें। फिर दाद-खाज-खुजली के स्थान पर लगाए इससे भी लाभ मिलेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper