दिल्ली में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, महिला समेत तीन गिरफ्तार

नई दिल्ली: दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) ने शुक्रवार देर रात रोहिणी सेक्टर छह के एक घर में चल रहे सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ और एक लड़की को जिस्मफरोशी के धंधे से मुक्त कराया। आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने बताया कि आयोग की हेल्पलाइन नंबर पर एक लड़की ने कॉल कर बताया कि उसे रोहिणी के एक घर में कैद कर रखा गया है और उससे जबरन जिस्मफरोशी का धंधा करवाया जा रहा।

सूचना मिलते ही आयोग की टीम पुलिस के साथ मौके पर पहुंची। घर में पीड़िता के अलावा 2 महिलाएं, मुख्य आरोपी और कुछ कस्टमर थे। मुख्य आरोपी जितेश एक महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में था। टीम को अंदर आते देख वे पीछे के दरवाजे से भाग खड़े हुए। उन दोनों के साथ एक और महिला ने भी भागने का नाकाम प्रयास किया। महिला ने बताया कि वो जितेश की पार्टनर है। पूछताछ में उसने स्वीकार किया कि वे दोनों मिलकर जिस्मफरोशी कराते हैं। मौके से मुक्त कराई गई लड़की ने बताया कि उसके पुराने घर के पास रहने वाले एक परिचित ने उससे कहा था कि जल्द पैसे कमाने के लिए वह उसे नौकरी दिलवाएगा।

रचना: राजीव कांत जैन

उसकी बातों में आकर वह 25 अगस्त को रोहिणी सेक्टर 6 के एक घर में आ गई। यहां उससे तीन दिन जिस्मफरोशी कराई गई। मना करने पर उसे धमकाया गया और घर को लॉक कर दिया गया। लड़की ने बताया कि उस घर में दिन में कई कस्टमर आते थे और वहां जिस्मफरोशी का धंधा खुलेआम चलता था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper