दिल्ली में हुई बारिश से मौसम सुहाना, कई राज्यों में आंधी-पानी का अलर्ट जारी

नई दिल्ली: कोरोना संकट से जूझ रहे भारत के कई राज्यों में पिछले कई दिनों से मौसम में उलटफेर जारी है। कभी गर्मी तो कभी बरसात ने लोगों को परेशान कर रखा है। भारतीय मौसम विभाग ने अपने ताजा अपडेट में कहा है कि पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के कारण देश के कई हिस्सों में इंद्र देवता मेहरबान हैं। अगले 24 घंटों के दौरान कई राज्यों में बारिश होने के आसार हैं इसलिए उसने कुछ राज्यों में हल्की से भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। तो वहीं रविवार को दोपहर बाद दिल्ली और उसके आस-पास के इलाकों में बारिश हुई है, जिससे तापमान में कमी आई है और लोगों को गर्मी से राहत मिली है दिल्ली-एनसीआर में बरसे बादल जबकि अगले कुछ घंटों में अलीगढ़, खैर, कासगंज, आगरा, रोहतक, झज्जर, हाथरस में भी मेघ बरस सकते हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान यूपी-उत्तराखंड, एमपी, बिहार, झारखंड, कर्नाटक, गंगीय पश्चिम बंगाल और ओडिशा में भारी बारिश हो सकती है, तो वहीं दिल्ली में मंगलवार, बुधवार को तेज हवाओं के साथ हल्की बूंदाबांदी की संभावना नजर आ रही है, जबकि गुजरात, राजस्थान और एमपी में भी हल्के-फुल्के बादल बरस सकते हैं।

1 जून को मानसून दे सकता है केरल में दस्तक, IMD ने दिया बड़ा अपडेट 30-40 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से हवा भी चल सकती है यही नहीं मौसम विभाग ने ये भी कहा है कि 10 मई तक देश में आंधी-पानी का दौर जारी रहेगा और इसकी वजह से तापमान में कमी आएगी। बारिश के दौरान 30-40 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से हवा भी चल सकती है। जबकि इससे पहले भी आईएमडी ने कहा था कि मई के पहले हफ्ते में बिहार, झारखंड, बंगाल, असम , तमिलनाडु और कर्नाटक में हल्की से तेज बारिश संभव है तो वहीं उत्तराखंड, हिमाचल और कश्मीर में भारी बारिश के आसार हैं। 96 प्रतिशत से लेकर 104 फीसदी तक वर्षा का अनुमान जबकि नार्थ ईस्ट और दक्षिण भारत में भी भारी बारिश की आशंका बनी हुई है।

तो वहीं पंजाब-हरियाणा में भी 12 मई तक बारिश के आसार दिख रहे हैं। तो वहीं श्रीनगर में भी मौसम बिगड़ सकता है, मौसम विभाग के मुताबिक अगले पांच दिनों के दौरान धूल भरी आंधी के आसार दिख रहे हैं। तो वहीं झारखंड में मौसम पलटी मार सकता है। प्री-मानसून गतिविधि विभाग के मुताबिक मई के अंतिम सप्ताह में ये प्री-मानसून गतिविधि होगी। आईएमडी ने कहा है कि इस साल 96 प्रतिशत से लेकर 104 फीसदी तक वर्षा हो सकती है, जो कि सामान्य से अच्छी बारिश की श्रेणी में आती है।मानसून सीजन जून से लेकर सितंबर तक रहेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper