दिल्ली सरकार की नई आबकारी नीति के खिलाफ सड़क पर उतरी भाजपा, कई मार्गों पर लगा भारी जाम

नई दिल्ली: दिल्ली में लागू नई आबकारी नीति के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी की दिल्ली प्रदेश इकाई ने चक्‍का जाम शुरू कर दिया है। इस वजह से अक्षरधाम, आज़ादपुर, आईटीओ आईएसबीटी और वेलकम चौक समेत कई जगह जाम लग गया है।प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने अक्षरधाम मॉल क्रॉस रोड पर चक्का जाम का नेतृत्व किया। उन्होंने कहा कि, दिल्ली का हर व्यक्ति और हर महिला नई शराब नीति से परेशान है क्योंकि उनके घर के बगल में शराब के ठेके खुल रहे हैं। उन्होंने कहा केजरीवाल पंजाब में शराब बंदी पर रोक लगाने की वकालत कर रहे हैं और दिल्ली को शराब नगरी बनाने में लगे हुए हैं। ऐसे में भाजपा चुप बैठने वाली नहीं है।

उन्होंने एक बार फिर इस बात को दोहराया कि, नई शराब नीति के तहत खोली जा रही नई दुकानें अगर अनाधिक़ृत क्षेत्र में हैं, मास्टर प्लान 2021, निगम के नियमों का पालन नहीं कर रही है या फिर विद्यालय और धार्मिक स्थल आदि के बगल में हैं तो उसे तुरंत प्रभाव से सील किया जाएगा। हालांकि दिल्ली की तीनों निगमो द्वारा अब तक कई दुकानों को नोटिस और सील किया जा चुका है। भाजपा के अनुसार, जब तक मुख्यमंत्री केजरीवाल इस नई शराब का नीति को वापस नहीं लेते, भाजपा का संघर्ष जारी रहेगा।

भाजपा कार्यकतार्ओं ने करोल बाग स्थित चक्का जाम किया हुआ है जिससे आने जाने वालों लोगों को भी परेशानी हो रही है। शाहदरा जि़ले में भी कुछ इसी तरह हाल बना हुआ है। दिल्ली का आईटीओ मार्ग पर भी सुबह से चक्का जाम रहा। दफ्तर जाने वाले सैंकड़ो लोग इस विरोध प्रदर्शन के दौरान सड़कों पर गाड़ी बंद कर खड़े रहे। वहीं सिग्नेचर ब्रिज, उत्तर पूर्वी दिल्ली, उत्तर पश्चिमी दिल्ली में भी इसका असर रहा।

दरअसल भाजपा सुबह से रणनीति अनुसार पूरी दिल्ली में अलग-अलग प्रमुख 15 स्थानों पर चक्का जाम कर रही है। भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता अक्षरधाम क्रॉस आल रोड और सांसद गौतम गम्भीर विकास मार्ग स्थित कार बाजार में इसका नेतृत्व कर रहे हैं। सांसद गौतम गंभीर ने कहा, भाजपा और पूरी दिल्ली इस शराब नीति के खिलाफ हैं। अब दिल्ली को चुनना है, विद्या या नशा, स्कूल या शराबखाने? भाजपा सांसद प्रवेश सिंह साहिब ने कहा, सबको याद है 2021 का भयानक अप्रैल, मई, जून का महीना जब केजरीवाल की लापरवाही से 26000 लोगों ने कोरोना से दम तोड़ दिया था। उसी महीने में केजरीवाल सरकार शराब की फ्ऱी डिलीवरी योजना बना रही थी। 850 शराब के ठेके खोलने की योजना बना रहे थे और रिश्वत ले रहे थे।

आज केजरीवाल को बताना चाहिए कि वह किसके दवाब में या कितनी रिश्वत लेकर शराब के ठेके खोलने की मंजूरी दे रहे हैं और सबकुछ भूल कर भ्रष्टाचार करने में लगे हुए हैं। दिल्ली में 500 नए स्कूल खोलने की बात करने वाले केजरीवाल,दिल्ली में अब 864 शराब के ठेके खोल रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper