दुनिया की सबसे बड़ी खुफिया गुफा, जिसके अंदर से आने वाली डरावनी आवाज सुन कांप जाता हैं हर कोई

दुनिया भर में कई तरह की गुफाएं मौजूद हैं और हर गुफाओं की अपनी एक अलग खासियत होती है। आपने अब तक कई तरह की गुफाएं देखी भी होंगी, लेकिन आज हम जिस गुफा के बारे में आपको बताने जा रहे है वो आपने अपनी पूरी जिंदगी में नही देखी होगी। ये खुफिया गुफा वियतनाम में स्थित में और ये पूरी दुनिया की सबसे बड़ी गुफा है, जिसके अंदर एक अजीब ही दुनिया बसी हुई है। जिसका पता लगाना काफी मुश्किल है इस खुफिया गुफा की सबसे खास बात ये है कि इस गुफा के अंदर से ऐसी-ऐसी डरावनी आवाजें आती हैं जिसे सुनकर ही अच्छे खासे लोग कांप जाते हैं।

ये डरावनी गुफा पूरी नौ किलोमीटर लंबी, 200 मीटर चौड़ी और 150 मीटर ऊंची है और आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, इस गुफा का नाम है हैंग सोन डूंग। इस खूफिया गुफा के अंदर पेड़-पौधों से लेकर जंगल, बादल और नदी तक सबकुछ शामिल हैं। लाखों साल पुरानी इस गुफा को साल 2013 में ही पहली बार पर्यटकों के लिए खोला गया था।

आपको ये जानकर शायद हैरानी होगी कि हर साल सिर्फ 250-300 लोगों को ही यहां जाने की इजाजत मिलती है। बाकी अन्य सामान्य पर्यटक इसमें नही जा सकते है। इस गुफा की खोज साल 1991 में ‘हो खानह’ नाम के स्थानीय शख्स ने की थी, लेकिन उस प्रचीन समय में पानी की भयंकर गर्जना और गुफा में भीषण अंधेरा होने के कारण कोई भी अंदर जाने की हिम्मत तक नहीं जुटा पाया था। हर साल देश दुनिया से आये आम पर्यटक अगस्त महीने से पहले ही इस गुफा के अंदर जाकर फिर लौट आते हैं, क्योंकि इसके बाद गुफा के अंदर मौजूद नदी का जलस्तर बढ़ जाता है। जो उनकी जान के लिए भी जानलेवा साबित हो सकता है।

गुफा के अंदर प्रवेश करने के लिए हर व्यक्ति को टिकट का लगभग दो लाख रुपये देना होता है। यहां तक की गुफा के अंदर जाने वाले पर्यटकों को पहले छह महीने की ट्रेनिंग दी जाती है। जिसमें सभी पर्यटकों को 10 किलोमीटर पैदल चलने और छह बार रॉक क्लाइंबिंग यानी चट्टानों पर चढ़ना सिखाया जाता है। इस ट्रेनिंग को पूरा करने के बाद ही उन्हें गुफा में ले जाया जाता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper