दूसरे चरण के चुनाव में यूपीए गठबंधन की अग्नि परीक्षा

दिल्ली ब्यूरो: 18 अप्रैल को होने जा रहे लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में कइयों की अग्नि परीक्षा है। खासकर यूपीए गठबंधन का लिटमस टेस्ट होना है। इस चरण में कुल 13 राज्यों की 95 सीटों पर वोट डाले जाने हैं। तमिलनाडु की वेल्लोर सीट पर मतदान फिलहाल रद्द कर दिया गया है। इसके अलावा त्रिपुरा सीट पर मतदान को दूसरे के बजाय तीसरे चरण में कर दिया गया है।

इस चरण में तमिलनाडु की सर्वाधिक 38 सीटों पर चुनाव होने हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र में 10, उत्तर प्रदेश में आठ, बिहार में पांच, पश्चिम बंगाल में तीन, उड़ीसा में पांच, छत्तीसगढ़ में तीन, कर्नाटक में 14, जम्मू कश्मीर में दो, मणिपुर में एक, पुडुचेरी में एक, असम में पांच सीटों पर मतदान होना है।

इस चरण में कांग्रेस की अगुवाई वाले यूपीए गठबंधन की दक्षिण में कड़ी परीक्षा होनी है। कांग्रेस को दक्षिण से काफी उम्मीदें हैं। यहां तमिलनाडु की 38 और पुडुचेरी की एक सीट यानी कुल मिलाकर 40 सीटों पर मतदान होना है। जहां कांग्रेस की मुख्य सहयोगी डीएमके है.जबकि बीजेपी अपने सहयोगी एडीएमके के साथ चुनाव मैदान में है। बीते लोकसभा चुनाव में एडीएमके को सर्वाधिक 37 सीटों पर जीत मिली थी।

दूसरे चरण में उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर मत डाले जाने हैं. इनमें आगरा, फतेहपुर सीकरी, मथुरा, हाथरस, अलीगढ़, बुलंदशहर, अमरोहा और नगीना शामिल हैं। इनमें से फतेहपुर सीकरी से कांग्रेस नेता राज बब्बर और मथुरा से बीजेपी उम्मीदवार हेमा मालिनी पर खास नजरें रहेंगी। वहीं कर्नाटक की 14 सीटों पर भी इसी चरण में मतदान होना है. यहां कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन का मुकाबला बीजेपी से है. हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में इस गठबंधन ने बीजेपी को सत्ता से बाहर कर दिया था। लेकिन लोकसभा चुनाव में उनकी राह आसान नहीं होगी. इसकी एक वजह जेडीएस और कांग्रेस के बीच की तकरार बताई जा रही है. ये कई बार सतह पर नजर आ जाती है।

इसके अलावा महाराष्ट्र की 10 सीटों पर इसी दिन वोट पड़ेंगे. इनमें बुलढाना, अकोला, अमरावती, हिंगोली, नांदेड़, परभणी, बीड, उस्मानाबाद, लातूर और सोलापुर सीट शामिल हैं। महाराष्ट्र की जिन 10 सीटों पर दूसरे चरण में चुनाव होने हैं वहां बीजेपी शिवसेना का दबदबा रहा है। पिछले लोकसभा चुनाव में इन 10 में से पांच सीटों पर बीजेपी को जीत मिली थी. लेकिन कांग्रेस भी एनसीपी के साथ मिलकर वापसी की पूरी तैयारी कर रही है। इनमें अकोला सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला होने की उम्मीद है। यहां से वंचित बहुजन अघाड़ी पार्टी (वीबीए) के प्रमुख प्रकाश आंबेडकर मैदान में हैं। प्रकाश आंबेडकर को ओवैसी का साथ भी मिला हुआ है। इस तरह वो मजबूत सत्ताधारी पार्टी के सामने कड़ी चुनौती साबित हो सकते हैं।

2014 के लोकसभा चुनाव में ओवैसी की पार्टी महाराष्ट्र में दो लोकसभा सीटें भी जीत चुकी है। अकोला सीट पर एनडीए से संजय शामराव धोतरे और यूपीए से हिदायत पटेल उम्मीदवार हैं.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper