देवघर रोपवे हादसे में मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख की आर्थिक सहायता देगी झारखंड सरकार

रांची: झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने देवघर स्थित त्रिकूट पर्वत पर स्थित रोपवे में रविवार को हुए हादसे और लोहरदगा में रामनवमी के जुलूस पर हुए हमले में मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपए की सहायता राशि देने और घायलों के निशुल्क इलाज की घोषणा की। आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि साहिबगंज से आज शाम वापस लौटे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपने आवास पर देवघर में त्रिकूट पर्वत पर हुई रोपवे दुर्घटना के संबंध में उच्चस्तरीय बैठक की जिसमें इस आशय की उन्होंने घोषणा की।

बैठक में त्रिकूट पर्वत रोप-वे हादसे की जांच के लिए उच्चस्तरीय जांच समिति गठित करने तथा गठित समिति में रोप-वे से संबंधित विशेषज्ञों को भी शामिल किए जाने का निर्देश मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को दिया। इस दौरान रोप-वे हादसे को लेकर प्राथमिकी दर्ज किए जाने का भी निर्देश दिया गया। बाद में मुख्यमंत्री ने स्वयं ट्वीट कर इन निर्णयों की जानकारी दी।

इससे पूर्वदेवघर में दस अप्रैल की शाम त्रिकूट पर्वत पर पर्यटकों के लिए बने रोप-वे की केबल कारों में हुई टक्कर के बाद 1500 से 2000 फीट की उंचाई पर 25 केबल कारों में फंसे 48 लोगों में से 46 को बचा लिया। इस हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई जबकि 12 अन्य घायल हो गए जिनमें से दो की मौत हेलीकॉप्टर से बचाए जाने के दौरान नीचे गिर जाने से हुई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper