देवरिया कांड की सीबीआई जांच की घोषणा महज दिखावा: कांग्रेस

लखनऊ: कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा देवरिया कांड की सीबीआई जांच की घोषणा महज एक दिखावा है। इस कांड में आरोपित महिला संरक्षण गृह की संचालिका के साथ जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक के फोटो बुधवार को समाचार पत्रों में प्रकाशित हुए और मुख्यमंत्री ने इन लोगों के विरुद्ध किसी प्रकार का एक्शन नहीं लिया। अपर मुख्य सचिव महिला कल्याण रेणुका कुमार पांच वर्षो से इस विभाग में तैनात हैं।

उन पर भी किसी प्रकार का एक्शन लेना तो दूर, उन्हें जांच समिति में रखा गया है। इससे साबित होता है कि सरकार की मंशा इस कांड में दोषियों को सजा देने की नहीं है।कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता ओंकार नाथ सिंह ने कहा कि उच्च न्यायालय ने गंभीरता से इस प्रकरण को लेते हुए सरकार की मंशा और कार्यपण्राली से असन्तुष्ट होते हुए निर्देश दिया है कि सीबीआई की जांच उसकी निगरानी में होगी।

इससे प्रदेश सरकार की मंशा पर सवालिया निशान लग गया है और यह प्रतीत हो रहा है कि सरकार निश्चित रूप से इस कांड में संलिप्त कुछ प्रमुख लोगों को बचाना चाहती है। इसी के चलते अधिकारियों को बचाने का प्रयास कर रही है।श्री सिंह ने कहा कि बिगड़ती कानून-व्यवस्था एवं महिलाओं के हो रहे शोषण के विरुद्ध प्रदेश कांग्रेस ने कई बार धरना-प्रदर्शन कर राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन भी दिया, लेकिन सरकार ने इसे गंभीरता से नहीं लिया।

मां विंध्यवासिनी महिला एवं बालिका संरक्षण गृह देवरिया में बालिकाओं के शोषण के विरोध में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व सांसद राजबब्बर के निर्देशानुसार नौ अगस्त को प्रदेश की जिला व शहर कांग्रेस कमेटियों के संयुक्त तत्वावधान में धरना-प्रदर्शन किया जाएगा। इस अवसर पर योगी आदित्यनाथ सरकार का ध्यान आकृष्ट कराते हुए राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper