देवरिया काण्ड: सीबीआई जांच की जद में आ सकते हैं दो पूर्व एसपी

देवरिया: देवरिया शेल्टर होम काण्ड में देवरिया में तैनात दो पूर्व एसपी फंस सकते हैं। इन दोनों के समय में शेल्टर होम का लाइसेंस शासन द्वारा शिथिल कर बच्चों को दूसरी जगह भेजने के आदेश के बाद भी पुलिस बच्चों को भेजती रही जिसकी वजह से शेल्टर होम काले कारनामों में फंस गया। इस पर सेक्स रैकेट चलाने की आवाज उठ गयी। देवरिया के शेल्टर होम से बरामद 23 लोगों में से 13 लोगों का कलमबंद बयान वृहस्पतिवार को अतिरिक्त न्यायिक मजिस्ट्रेट नसीहा वसीम ने दर्ज किया। कल इस अदालत में 9 लोगों का बयान दर्ज हुआ था। इनमें बालिकाएं, युवतियां एवं युवक शामिल हैं।

उधर शेल्टर होम काण्ड को लेकर अफसरों की बेचैनी बढ़ गयी है। यहां के अधिकारी इस काण्ड की जांच में सीबीआई के पहुंचने के पूर्व कम्पाइल रिपार्ट बनाने में जुटे हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा इस काण्ड के घिनौने स्वरूप को देखते हुए सीबीआई जांच की घोषणा एवं हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश द्वारा इस काण्ड को स्वत: संज्ञान में लेकर सीबीआई जांच हाईकोर्ट की निगरानी में कराये जाने के आदेश के बाद यहां के अफसरों की नींद हराम हो गयी है। बताते हैं कि इस जांच की जद में प्रथम दृष्टया पूर्व में यहां तैनात रहे दो पुलिस अधीक्षक आयेंगे।

उल्लेखनीय है कि 23 जून 2017 को प्रदेश शासन द्वारा शेल्टर होम की मान्यता शिथिल करने एवं रह रहे लोगों को दूसरी जगह भेजने के आदेश के बावजूद भी शेल्टर होम चलता रहा जिसे शासन ने गंभीरता से लिया है। उधर इस मामले में चार पुलिस कर्मिंयों पर कार्रवाई की र्चचा जोरों पर है किन्तु पुलिस अधीक्षक रोहन पी.कनय इसकी पुष्टि नहीं कर रहे हैं। उधर इस काण्ड की मुख्यमंत्री द्वारा सीबीआई जांच की घोषणा के बाद एसटीएफ गोरखपुर की टीम यहां कल ही पहुंच गयी किन्तु उसे अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है। एडीजी क्राइम संजय सिंघल की अध्यक्षता में एसआईटी की तीन सदस्यीय टीम कल यहां पहुंचने वाली है। इस टीम में दो महिला एसपी है। प्रदेश शासन के निर्देश पर अपर पुलिस महानिदेशक दावा शेरपा अपने स्तर से इस काण्ड की जांच कर रहे हैं।

शेल्टर होम काण्ड में गिरफ्तार कर पुलिस द्वारा जेल भेजी गयी शेल्टर होम की अध्यक्ष गिरिजा त्रिपाठी एवं उनके पति मोहन त्रिपाठी की जेल में रहने की अवधि भी अब अनिश्चित लगती है। अधिवक्ताओं का कहना है कि सीबीआई देवरिया पहुंचते ही गत 6 अगस्त को जिला प्रोवेशन अधिकारी द्वारा दर्ज करायी गयी एफआईआर पर खुद विवेचना करनी शुरू करेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper