देवरिया बालिका गृह कांड: लखनऊ से देवरिया पहुंचे दो और एएसपी

देवरिया: जनपद के चर्चित बालिका गृह कांड में एसआईटी की जांच धीमी देखकर एडीजी क्राइम ने लखनऊ से दो पुलिस अधिकारियों को बुलाया है। शुक्रवार को दोनों अधिकारियों के नेतृत्व में गोरखपुर से आयी पुलिस टीम जांच में जुट गई है। एडीजी के निर्देश पर टीम के सदस्य शहर के साथ ही दूसरे संबंधित लोगों के बारे में जानकारी कर रही है। एसआईटी की जांच पर हाईकोर्ट ने बीती 13 अगस्त को सवाल उठाया था। जज ने एसआईटी से वाहनों के बारे में जानकारी मांगी, लेकिन टीम गाड़ियों के बारे में कोई जवाब दे नहीं सकी थी। एडीजी के चले जाने से टीम के सदस्य काफी धीरे कार्य कर रहे थे।

पांच दिनों में पुलिस टीम ने कोतवाल, बाल कल्याण समिति और कुछ वाहन चालकों से ही पूछताछ की। टीम की सदस्यों की स्थिति देख कर एडीजी ने लखनऊ से दो एएसपी को जांच में सहयोग के लिए बुलाया है। अधिकारियों के आने के बाद से जांच में तेजी आ गई है। टीम के सदस्यों ने शुक्रवार को शहर के अलग अलग स्थानों पर पहुंच कर घटना की जानकारी ली। घटना के जुड़े हुए साक्ष्य के लिए वह दर दर भटक रहे हैं। एसटीएफ ने अन्य सदस्यों को भी बुलाया गोरखपुर एसटीएफ पिछले कुछ दिनों से देवरिया में डेरा डाले हुए हैं। टीम के प्रभारी ने कुछ अन्य सदस्यों को गोरखपुर से बुलाया है, जिससे आने वाले दिनों में कुछ महत्वपूर्ण साक्ष्य जुटाया जा सके। वहीं कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा सके।

20 अगस्त को कोर्ट में दाखिल करना है एसआईटी को जवाब इलाहाबाद हाईकोर्ट में एसआईटी को 20 अगस्त को जांच रिपोर्ट दाखिल करना है। पहले ही कोर्ट एसआईटी को फटकार लगा चुकी है। एसआईटी को जल्द से जल्द संस्था पर आने वाले लोग और गाड़ियों के बारे में पता लगाने का निर्देश दिया गया है। कोर्ट के निर्देश पर एसआईटी सक्रिय हो गई है। वह गाड़ियों और उसके चालकों के साथ संस्था पर आने वाले लोगों की सूची बना रही है, जिससे 20 अगस्त को होने वाली सुनवाई में अपना जबाब दाखिल कर सके।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper