देशभर में कोरोना से फिर बढ़ने लगी घबराहट, पाबंदियों के बीच क्या फिर लौटेगा लॉकडाउन?

लखनऊ: देश में कोरोना महामारी एक बार बहुत हद तक पूरी तरह काबू में आने के बाद फिर से बेकाबू होती दिख रही है। बुधवार को देश में 35 हजार से ज्यादा नए केस आए तो गुरुवार को करीब 40 हजार। ये आंकड़े डराने वाले हैं। सरकारों के हाथ-पांव फूले हुए हैं। कहीं नाइट कर्फ्यू लगाया जा रहा है तो कहीं नई तरह की पाबंदियां। लोगों के जेहन में अब यह सवाल भी कौंधने लगा है कि क्या देश एक बार फिर लॉकडाउन की तरफ बढ़ रहा है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे तो कह भी चुके हैं कि लॉकडाउन भी संभावित विकल्पों में से एक है।

महाराष्ट्र में स्थिति विस्फोटक, लगीं नई पाबंदियां
सबसे बुरी स्थिति महाराष्ट्र की है, जहां शुक्रवार को कोरोना के नए मामलों ने अबतक का सारा रेकॉर्ड तोड़ दिया। सूबे में 25,833 नए केस दर्ज किए गए। जब देश में रोजाना करीब एक लाख नए केस आ रहे थे, तब भी महाराष्ट्र में एक दिन में इतने ज्यादा केस नहीं आए थे। सूबे में ‘कोरोना विस्फोट’ से सकते में आई राज्य सरकार ने 31 मार्च तक कई तरह की पाबंदियां लगा दी है। सभी ड्रामा थिअटर, ऑडिटोरियम अब 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ही खुल सकेंगे। मल्टीप्लेक्स, रेस्तरां और होटलों को भी सिर्फ 50 फीसद क्षमता के साथ खोलना होगा बिना मास्क के एंट्री नहीं मिलेगी। प्राइवेट ऑफिस भी 50 प्रतिशत मैनपावर के साथ काम करेंगे।

ठाकरे ने तो बता दिया- लॉकडाउन भी विकल्प
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को साफ कहा कि लॉकडाउन भी निश्चित तौर पर एक विकल्प है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन एक विकल्प है लेकिन हम अपने लोगों पर भरोसा करते हैं कि वो कोरोना गाइडलाइंस का पालन करेंगे। नंदुरबार में पत्रकारों से बात करते हुए ठाकरे ने लोगों से बिना किसी डर के वायरस से बचाव के लिए टीका लगवाने की भी अपील की। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस की स्थिति गंभीर हो गई है। मुंबई में तो बीएमसी ने मॉल्स और सार्वजनिक जगहों पर कोरोना टेस्ट की व्यवस्था की है। अगर आप कोरोना टेस्ट नहीं कराना चाहते तो मॉल्स में नो एंट्री।

एमपी में भोपाल, इंदौर और जबलपुर में रविवार को लॉकडाउन
मध्य प्रदेश के भोपाल, इंदौर और जबलपुर में 21 मार्च रविवार को टोटल लॉकडाउन रहेगा। 31 मार्च तक इन तीनों शहरों में स्कूल-कॉलेज भी बंद रहेंगे। राज्य में गुरुवार को कोरोना के 1,140 नए मामले सामने आए थे।

पंजाब में 31 मार्च तक स्कूल-कॉलेज बंद
पंजाब भी उन राज्यों में शामिल है जहां कोरोना के मामले फिर तेजी से बढ़ रहे हैं। इसके मद्देनजर राज्य सरकार ने स्कूल-कॉलेजों को 31 मार्च तक बंद रखने का आदेश दिया है। परीक्षाएं भी टाल दी गई हैं। सिनेमा हॉल्स में दर्शकों की मौजूदगी को सीमित कर दिया गया है। किसी को भी अपने घर में 10 से ज्यादा मेहमान बुलाने की इजाजत नहीं है। सामाजिक कार्यक्रमों को दो हफ्तों के लिए टाल देने की अपील की गई है। प्रदेश के कई जिलों में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया गया है।

बिहार में डॉक्टरों, हेल्थकेयर वर्करों की छुट्टियां रद्द
बिहार सरकार ने हेल्थकेयर वर्कर्स की छुट्टियां 5 अप्रैल तक रद्द कर दी है। जो पहले से छुट्टी पर गए हैं, उन्हें भी तत्काल काम पर लौटने के लिए कहा गया है। सूबे में गुरुवार को एक दिन में 107 नए मामले सामने आए। राज्य में करीब 40 दिनों के बाद नए संक्रमितों की संख्या 100 के पार पहुंची हैं।

दिल्ली में इस साल पहली बार 700+ केस
दिल्ली में भी हालत बिगड़ रहे हैं। शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना के 716 नए केस सामने आए। यहां इस साल पहली बार कोरोना के डेली केस का आंकड़ा 700 के पार पहुंचा है। एक दिन पहले ही, गुरुवार को सीएम अरविंद केजरीवाल ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की आपात बैठक बुलाई थी। तय हुआ कि मास्क को लेकर सख्ती की जाएगी। मास्क न पहनने वालों पर कार्रवाई होगी। वैक्सीनेशन सेंटरों की संख्या 500 से बढ़ाकर 1000 की जाएगी यानी दोगुनी की जाएगी। सरकारी अस्पतालों में सुबह 9 से रात 9 बजे तक वैक्सीनेशन होगा। सीएम केजरीवाल ने केंद्र से मांग की है कि बढ़ते केसों के मद्देनजर अब वैक्सीनेशन को सभी के लिए खोल दिया जाए। फिलहाल कोरोना वॉरियर्स के अलावा 60 साल से ऊपर के बुजुर्ग और पहले से गंभीर बीमारियों से पीड़ित 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन दी जा रही है।

गुजरात में भी हालत खराब, अहमदाबाद सूरत में नाइट कर्फ्यू
गुजरात में कोरोना वायरस दोबारा तेजी से पैर पसार रहा है। गुरुवार को राज्य में कोरोना के 1276 नए मरीज मिले, जो इस साल की अब तक की सबसे बड़ी संख्या है। इसको देखते हुए सरकार अलर्ट पर है और अहमदाबाद और सूरत में नाइट कर्फ्यू को और सख्त कर दिया है। दोनों शहरों में अब रात 10 बजे के बजाय 9 बजे से ही सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू रहेगा। शनिवार और रविवार को शॉपिंग मॉल्स को भी बंद रखने का आदेश दिया गया है।

अन्य राज्यों की भी बढ़ीं धड़कनें
महाराष्ट्र, पंजाब, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात, छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में कोरोना की बढ़ती रफ्तार से बाकी राज्यों की धड़कनें भी बढ़ गई हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक कोरोना वायरस के 80.63% नए मामले महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और छत्‍तीसगढ़ से हैं। धीरे-धीरे कुछ राज्य ‘कोरोना विस्फोट’ से जूझ रहे राज्यों से आने वाले लोगों के लिए क्वारंटीन से लेकर नेगेटिव कोरोना रिपोर्ट जैसी बंदिशें लागू कर रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper