देश के इस गांव में सभी लोगों को हुआ कोरोना, ये अकेला शख्स रहा किस्मतवाला

सर्दियों की शुरुआत के साथ ही हिमाचल प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने लगे हैं।  यही कारण है कि लाहौल जिले के थोरंग गांव में एक शख्स को छोड़कर अन्य सभी लोगों के कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो गई है। इससे सरकार और चिकित्सा अधिकारियों के माथे पर चिंता की लकीरें खिंच गई है। अधिकारियों ने अब ऐहतियात के तौर पर सभी लोगों को होम क्वारंटाइन कर दिया है और अन्य लोगों का गांव में प्रवेश बंद कर दिया। ग्रामीणों ने स्वेच्छा से कराई कोरोना की जांच

मीडिया  के अनुसार चिकित्सा अधिकारियों ने बताया कि थोरंग गांव मनाली-लेह राजमार्ग पर स्थित है। सर्दियों के कारण अधिकतर लोग कुल्लू चले जाते हैं, लेकिन गांव के 42 लोगों ने यहीं रहने का फैसला किया था।

इसके बाद गत दिनों सभी ग्रामीणों ने स्वेच्छा से अपनी कोरोना की जांच कराई थी। जिसमें 41 लोगों के संक्रमण की पुष्टि हुई है, लेकिन 52 वर्षीय भूषण ठाकुर की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। इसके एक चमत्कार माना जा रहा है।

गांव में आयोजित धार्मिक आयोजन में जुटी थी भीड़

अधिकारियों ने बताया कि ग्रामीण कुछ दिन पहले एक धार्मिक कार्यक्रम के दौरान एक स्थान पर एकत्रित हुए थे। अब ग्रामीणों का कहना है कि इसी कारण से लोगों के बीच कोरोना वायरल फैला है।

इस गांव के अलावा आसपास इलाकों में भी भारी संख्या में लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।

ऐसे में अन्य गांवों के लोगों में भी संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है। ऐसे में अब थोरंग गांव में बाहरी लोगों का प्रवेश बंद कर दिया है।

लोगों को कोरोना को हल्के में नहीं लेना चाहिए- भूषण

भूषण ठाकुर ने कहा, “मैं एक अलग कमरे में रह रहा हूं और पिछले चार दिनों से खुद खाना बना रहा हूं। जब तक मुझे परिवार के अन्य लोगों के संक्रमित होने का पता नहीं लगा, तब तक मैं उनके साथ ही रह रहा था। हालांकि, मैं सभी प्रोटोकॉल जैसे हाथों को साफ करना, मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहा था।”

उन्होंने कहा लोगों को इस बीमारी को हल्के में नहीं लेना चाहिए और अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए।

पर्यटकों का आवागमन किया बंद

लाहौल घाटी में बढ़े कोरोना के मामलों के बाद प्रशासन ने रोहतांग सुरंग के उत्तर पोर्टल के पास तेलिंग नाले तक ही पर्यटकों को आने दिया। उसके बाद पर्यटकों के आवागमन को प्रतिबंधित कर दिया गया है। पर्यटकों को लाहौल के गांवों में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जा रही है।

इसी तरह सुरंग से दूसरी ओर के गांवों को कंटेनमेंट जोन में बदल दिया गया है। आस-पास के गांवों में भी कोरोना जांच अभियान चलाया जा रहा है।

लाहौल क्षेत्र में लगातार बिगड़ रही है स्थिति

लाहौल-स्पीति के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ पालजोर ने बताया कि चिकित्सा टीमें ग्रामीणों से जांच कराने की अपील कर रही है। जिले में अब तक 856 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं।

स्पीति के गांवों में बड़े पैमाने पर संक्रमण भी चिंता का विषय बन गया है। स्पीति के रंगरिक गांव के 39 लोगों के गत 28 अक्टूबर को संक्रमण की पुष्टि हुई थी। इसी तरह स्पीति के छोटे से गांव हर्लिंग में भी 19 लोग संक्रमित मिल चुके हैं।

भारत और हिमाचल में यह है कोरोना संक्रमण की स्थिति

भारत में पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 45,882 नए मामले सामने आए और 584 मरीजों की मौत हुई है।

देश में संक्रमितों की कुल संख्या 90,04,365 हो गई है और इनमें से 1,32,162 मरीजों की मौत हो चुकी है। सक्रिय मामलों की संख्या 4,43,794 पर आ गई है।

इसी तरह हिमाचल प्रदेश में संक्रमितों की संख्या 32,198 पर पहुंच गई। इनमें से अब तक 487 मरीजों की मौत हो चुकी है और 24,729 मरीज ठीक हो चुके हैं।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper