दो सालों से फैमिलीमून मना रहा यहां कपल, 13 लाख रुपये खर्च किए

लंदन: शादी के बाद हनीमून पर अक्सर कपल जाते हैं, लेकिन एक न्यूलीवेड कपल का स्पेशल फैमिलीमून’ आपको हैरान कर देगा। साल 2019 में शादी के बाद रॉस और सारा बैरेट अपने बेटे और कुत्ते के साथ विदेश में हनीमून मनाने निकल पड़े थे।दो साल का ये यादगार हनीमून कपल ने वैन के जरिए 13 लाख रुपए से ज्यादा खर्चकर सेलिब्रेट किया। इस दौरान रॉस और सारा ने अपना घर करीब 81 हजार रुपए के हिसाब से किराए पर चढ़ाकर अपने बेटे रिली और ब्लैक लैब्राडॉर के साथ अपनी कैम्पर वैन में ही शरण ले ली। कपल ने वैन अपने हनीमून से 5 साल पहले 2014 में खरीदी थी।इस दौरान परिवार ने पूरे यूरोप सहित फ्रांस, स्विट्जरलैंड, इटली, स्पेन, तुर्की और बुल्गारिया सहित कई देशों की सैर की।

कपल अब अपने घर लौट आया है, अब उनका बेटा पांच साल का हो गया है जो उस वक्त तीन साल का था। घर वापसी के बाद परिवार अपने एडवेंचरस ट्रिप को बहुत मिस कर रहा है।परिवार ने अपने पुराने लाइफस्टाइल को पूरी तरह से त्यागकर नए घुमक्कड़ी अंदाज को अपनाने की योजना बनाई है।रॉस पहले एक रॉयल मरीन कमांडो थे। उन्होंने बताया कि इस फैमिलीमून पर उनका हर दिन रोमांचक था।हर बार जब हम अपनी वैन का दरवाजा खोलते तब एक नई जगह पर होते थे। हमें अंदाजा ही नहीं रहता था कि आगे क्या होने वाला है।

रॉस ने बताया कि उनके परिवार ने मिलकर यह फैसला किया था कि वे किसी बड़े एडवेंचरस ट्रिप पर निकलना चाहते हैं।हम अपने परिवार के साथ एक क्वालिटी टाइम भी बिताना चाहते थे।इस दौरान कपल ने अपने बच्चे की पढ़ाई से भी समझौता नहीं किया।उन्होंने होमस्कूलिंग के जरिए बच्चे को पढ़ाया। रॉस कहते हैं, नौकरी छोड़ने का फैसला काफी अहम था, क्योंकि मेरे पास एक सिक्योर इनकम थी।लेकिन जब आप किसी पेशे में होते है,तब नौकरी के साथ इतना बड़ा कदम उठाना आपके लिए आसान नहीं होता है।इसलिए शादी के बाद मैंने अपना नोटिस दिया और हम दो साल के स्पेशल हनीमून पर निकल पड़े।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper