धर्म छुपाकर फंसाया, करवाया 3 बार गर्भपात, पोल खुली तो दी धमकी- करूंगा ‘श्रद्धा’ जैसा तुम्हारा भी हाल

नई दिल्ली/मेरठ. आज पूरा देश, श्रद्धा हत्याकांड (Shrdhha Murder Case) के चलते आक्रोशित और सदमें में है। वहीं उत्तरप्रदेश (Uttar pRdaesh) के मेरठ (Merut) में अब धर्म छुपाकर संबंध बनाने का एक और मामला सामने आया है। दरअसल एक युवती ने मेरठ में SSP ऑफिस पहुंच कर एक युवक पर धर्म छिपाकर उससे संबंध बनाने का आरोप लगाया है।

दरअसल मेरठ में बुटिक चलाने वाली एक लड़की ने मुजम्मिल नाम के युवक पर आरोप लगाते हुए कहा कि, युवक ने उसको श्रद्धा जैसा हाल बनाने की धमकी भी दी है। इस युवती के अनुसार उक्त युवक ने उसे टिंकू/शिवम नाम बताकर पहले अपने प्रेम जाल में फंसाया। लेकिन जब शक होने पर युवती ने छानबीन की तो युवक की हकीकत उसके सामने आई। इस युवती ने आरोप लगाते हुए बताया कि, युवक ने अब तक उससे लाखों रुपये भी ठग कर ऐंठ लिए हैं। यह मामला पल्लवपुरम थाना का बताया जा रहा है।

साथ ही पुलिस को युवती ने बताया कि, उसने जब टिंकू से शादी की बात की तो वह अचानक ही गायब हो गया। बाद में उससे बात ही करना बंद कर दिया। फिर शक होने पर उसने इन सबकी छानबीन की। जब सच सामने आया तो, उसके रौंगटे ही खड़े हो गए। दरअसल अपना नाम टिंकू बताकर उसे फंसाने वाला युवक एक मुस्लिम युवक निकला। यह जानकर जब उसने युवक से इसके बारे में पूछा तो उसने धमकी दी कि, वह उसका भी हाल ‘श्रद्धा’ जैसा कर देगा।

इसके साथ ही युवती ने बताया कि मुजम्मिल ने करीब दो साल तक उसके साथ दुष्कर्म किया और उसकी म्हणत के आठ से नौ लाख रुपए भी उससे ऐंठ लिए। युवती के अनुसार मुजम्मिल उसका तीन बार गर्भपात भी करा चूका है। फिलहाल युवती की शिकायत पर पुलिस जांच कर रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper