नए मौसम में ऐसा हो फैशन

नई दिल्ली: सर्दियों का मौसम जाने ही वाला है और वसंत ऋतु के दस्तक देने का समय हो गया है, ऐसे में एक नए ट्रेंड के लिए भारी-भरकम मेकअप को छोड़ने और कुछ नए रंगों को जोड़ने का वक्त आ गया है। सर्दियों में गाढ़े रंग के कपड़ों को पहनने का फैशन रहता है, लेकिन अब बारी कुछ जानदार और ब्राइट रंगों के परिधानों को पहनने का है। किको मिलानो इंडिया की कस्टमर एक्सपीरियंस ट्रेनर पूजा मल्होत्रा ने ऐसे ही कुछ फैशन टिप्स साझा किए हैं :

सही फाउंडेशन का करें चुनाव

वसंत ऋतु में सर्दियों की तरह हेवी फाउंडेशन की जगह लाईट वेट फाउंडेशन का इस्तेमाल अपने चेहरे पर करें जिससे चेहरे पर एक नैचुरल ग्लो आएगा। ऐसे ऋतु में बीबी क्रीम और ल्यूमीनियस फाउंडेशन्स सबसे बेहतर होते हैं।

ब्रोन्ज व हाइलाईट

वैसे तो पाऊडर ब्रोन्जर और ब्लशर्स काफी अच्छे होते हैं, लेकिन वसंत ऋतु में क्रीम या लिक्विड प्रोड्क्ड का ही इस्तेमाल किया जाना चाहिए। ये आपकी त्वचा में अच्छे से मिल जाते हैं और इनसे चेहरे को एक नैचुरल लुक मिलता है। कॉन्टोर और ब्लश को हल्का रखें ताकि चेहरे का ग्लो देखने लायक बनें।

ब्राईट लिपस्टिक

वसंत ऋतु का तात्पर्य ही चमकीले रंगों से है, ऐसे में लिपस्टिक का चुनाव भी इसी बात को ध्यान में रखते हुए करें। आप या तो पेस्टल, पिंक या पीच टोन को अप्लाई कर सकते हैं या फिर सैटिन फिनिश के साथ इस मौसम के लिए खासतौर पर बनाए गए प्रोड्क्ट का भी उपयोग कर सकते हैं।

मसकरा

इसे अप्लाई करने से पहले एक बात का ध्यान जरूर रखें और वह ये कि कलर्ड मस्करा को लगाने से पहले बेस मस्करा लगाना न भूलें ताकि ये रंग आपकी आंखों में अच्छे से झलके।

नैचुरल आईशैडो पैलेट्स

इसमें कई तरह के बेहतरीन शेड्स उपलब्ध होते हैं जिन्हें यूज कर आप एक शानदार लुक पा सकते हैं। इस मौसम में डार्क व स्मोकी शेड्स के बजाय वॉर्म बेरी या न्यूड आईशैडो पैलेट्स को अपना सकते हैं।

बोल्ड और कलरफूल आईलाइनर

आंखों के मेकअप से खेलने का यह एक बेहतर समय है। इस मौसम में बोल्ड, रेट्रो ब्लू और चमकीले बैंगनी आईलाइनर्स का इस्तेमाल किया जा सकता है, इससे आंखों को एक बेहतरीन व एक नया लुक मिलेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper