नकली ब्लड सप्लाई करने वाले सरगना समेत 5 गिरफ्तार

लखनऊ ब्यूरो। उत्तर प्रदेश की स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) की टीम ने गुरुवार की देर रात पांच अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। ये लोग केमिकल और सेलाइन वाटर मिलाकर अवैध खून बेचने का काला कारोबार कर रहे थे।

अपर पुलिस अधीक्षक अमित नागर ने शुक्रवार को इसका खुलासा करते हुए बताया कि पकड़ा गया बदमाश सीतापुर रोड के मक्कागंज निवासी मोहम्मद नसीम इस गिरोह का मुख्य सरगना है। वह अपने घर में ही प्रोफेशनल डोनर का खुद ही खून निकालता था और एक यूनिट ब्लड से दो यूनिट ब्लड बना लेता था।

राशिद अली उर्फ आतिफ इसके द्वारा मुख्य रूप से अवैध ब्लड डोनर का लाना एवं मिलावटी रक्त बेचने का अपराध किया जाता है। राघवेन्द्र प्रताप सिंह यह बीएनके ब्लड बैंक का लैब टैक्निशियन है जो ब्लड बैंग की अवैध सप्लाई करता है।

पंकज कुमार त्रिपाठी, यह बीएनके ब्लड बैंक में लैब अटेन्डेन्ट है, जो ब्लड बैंक मे प्रोफेशनल डोनर से ब्लड निकाल कर नसीम को सप्लाई करता है तथा हनी निगम उर्फ रजनीश निगम ब्लड बैग के जाली स्टीकर एवं अन्य पेपर प्रिन्ट कराकर तैयार करता है तथा साथ ही ब्लड निकालना एवं ब्लड डोनर का इन्तेजाम करता है।

इसके बाद अपने साथी राशिद अली उर्फ आतिफ, राघवेंद्र प्रताप सिंह, पंकज कुमार त्रिपाठी, हनी निगम उर्फ रजनीश निगम के माध्यम से मिलावटी खून को वह प्रति यूनिट दो हजार से तीन हजार रुपये मे शेखर अस्पताल, ओपी चौधरी, मेडिसिन आदि के लेबल एवं कंपैटिबिलिटी फॉर्म को फर्जी तरीके से तैयार करता था और जरुरतमंद लोगों को बेचता था।

अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस गिरोह में सक्रिय अन्य लोगों को भी पकड़ने के लिए टीम को लगाया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper