नक्सलियों का सुरक्षित पनाहगार बना नोएडा-ग्रेटर नोएडा!

नई दिल्ली: नोएडा- ग्रेटर नोएडा नक्सलियों के लिए सुरक्षित पनाहगार बनते जा रहे हैं। यहां पहले भी नक्सली पकड़े गए हैं। हजारों की संख्या में फैक्टरी व कंपनी हैं और अधिक जनसंख्या घनत्व वाले रिहायशी इलाके हैं। इस कारण नक्सली आराम से यहां पनाह ले रहे हैं। वर्ष 2016 में नोएडा में एटीएस ने ¨हडन विहार और सदरपुर में छापा मारकर नौ नक्सली पकड़े थे। नक्सलियों के पास से अर्धसैनिक बलों में इस्तेमाल होने वाली इंसास राइफल भी बरामद की थी।

गिरफ्तार नक्सलियों में प्रतिबंधित पीपुल्स वार ग्रुप का एरिया कमांडर रंजीत पासवान उर्फ संतोष पासवान भी था। 16 मई 2014 को पुलिस ने फेज टू थाना क्षेत्र के नया गांव से नक्सली कृष्णा मोची को गिरफ्तार किया था। 22 वर्षीय कृष्णा जोनल कमांडर था। उसने बिहार में 2012 में लैंड माइन ब्लास्ट किया था।यहां पर नक्सलियों के नहीं पकड़े जाने के पीछे सबसे बड़ा कारण लचर पुलिस सत्यापन है। खुफिया एजेंसियों के पास ऐसे कई इनपुट हैं कि नोएडा- ग्रेटर नोएडा में कई नक्सली रह रहे हैं। नक्सलियों के निशाने पर उद्यमी और कारोबारी भी रहते हैं। वे इनसे फिरौती और रंगदारी मांगते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper