नदियों की रक्षा के लिए लगातार काम करने की जरूरत: योगी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गंगा नदी की सफाई पर विशेष बल देते हुए कहा है कि नदियों की रक्षा के लिए निरन्तर कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने कानपुर में बिठूर गंगा उत्सव के उद्घाटन अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि बिठूर वह भूमि है, जहां पर मां सीता रहीं, वाल्मीकि आश्रम रहा और 1857 की क्रान्ति भी हुई।

यह क्रान्ति गुलामी की जंजीरों को तोड़ने का पहला प्रयास थी। योगी ने कहा कि हमारा प्रयास होना चाहिए कि गंगा की धारा अविरल और निर्मल बनी रहे, जिससे आने वाली पीढ़ी के लिए गंगा सुरक्षित रह सके। इसके लिए जनजागरूकता और जनसहभागिता जरूरी है। कानपुरवासी गंगा को प्रदूषणमुक्त करने का कार्य अपने यहां से ही शुरू कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर 1857 की क्रान्ति के नायक नाना साहब पेशवा की मूर्ति पर पुष्पांजलि अर्पित की। इसके बाद उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार के 40 विभागों के विकास कार्यों और उपलब्धियों का निरीक्षण किया। योगी ने स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत कानपुर नगर निगम के ‘स्वच्छता एप’ के डाउनलोड को भारत में प्रथम स्थान मिलने पर हर्ष व्यक्त किया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper