नवरात्र के दूसरे दिन बन रहा है रवि पुष्य का दुर्लभ संयोग, इन राशि वालों के जीवन में आएंगी खुशियां ही खुशियां

लखनऊ: आज 18 अक्टूबर और रविवार का दिन है. आज आश्विन शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि हैं. आज रविवार को नवरात्र के दूसरे दिन सर्वार्थसिद्धि योग के साथ रवि पुष्य का दुर्लभ संयोग बन रहा है, जो कि तीन राशि वाले जातकों के लिए मंगलकारी रहेगा.इन तीन राशि वालों के जीवन में आएंगी खुशियां ही खुशियां होंगी. जीवन में खुशहाली आएगी. मान-सम्मान बढ़ेगा. चारों ओर से कामयाबी आपके दरवाजे पर दस्तक देगी. अन्य 9 राशि वाले जातकों के लिए आज का दिन थोड़ा नुकसानदायक साबित हो सकता है.

तुला राशि 

तुला राशि वाले लोगों को लंबे समय से चली आ रही समस्याओं से मुक्ति मिलेगी. घर का माहौल भी खुशनुमा रहेगा. लंबे समय से फंसा हुआ पैसा आज आपको अचानक से वापस मिल सकता है. आज जरूरतमंद व्यक्ति की सहायता करने से आपका मन प्रसन्न रहेगा. कार्य क्षेत्र में आज आपको कोई बड़ा फैसला लेना पड़ सकता है, जिससे आपको लाभ ही लाभ होगा.

मिथुन राशि 

आज बन रहे इस संयोग से सबसे ज्यादा लाभ मिथुन राशि वाले लोगों को होगा. आपकी मेहनत आपको आपके लक्ष्य के बहुत पहुंचाएगी. हर कार्य में आपको सफलता मिलेगी. बुद्धिमानी से काम लेना आपके लिए फायदेमंद साबित होगा. आज आप किसी धार्मिक कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं.

कर्क राशि 

कर्क राशि वालों का आज का पूरा दिन अच्छा रहेगा. आपके द्वारा व्यापार को बढ़ाने की योजना सफल साबित होंगी. आप प्रगति के पथ पर आगे बढ़ते जाएंगे. सरकारी क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए आज का दिन बहुत ही अच्छा है. आज आपको पदोन्नति का विशेष लाभ मिल सकता है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper