नवरात्र में छा जाएं

नवरात्र सिर्फ पूजा-अर्चना और व्रत तक ही सीमित नहीं रखा जाता, बल्कि इन्हें फैशनेबल स्टाइल में सेलिब्रेट किया जाता है। पूजा-व्रत के साथ लड़कियां और महिलाएं बहुत ही ट्रेडिशनल अंदाज में तैयार होती हैं। घर में रहने वाली महिलाओं से लेकर ऑफिस गोइंग तक इसे अनोखे स्टाइल में सेलिब्रेट करती हैं। हर कोई ट्रेडिशनल वेयर में ही नजर आता है। नवरात्र में कैसे करें रॉक, बता रही हैं मधु निगम

नवरात्र स्पेशल ड्रेसेज मार्केट का अहम हिस्सा बन चुका है। मार्केट में ट्रेडिशनल कपड़े हैं, जिन्हें आप इस पूरे सप्ताह कैरी कर सकते हैं और खुद को खूबसुरत बना कर लोगों की तारीफों के हकदार बन सकते हैं। आइए डालते हैं उन पर एक नजर।

नवरात्र के खास मौके पर मार्केट में गुजराती कढ़ाई वाले, शीशे की कारीगरी वाले कुर्ते और जैकेट की भरमार है। लड़कियां इन्हें खूब खरीदती नजर आ रही हैं। इनमें लाल, नीला, गुलाबी, हरा और पीला कलर खूब पसंद किया जा रहा है। वहीं अगर आप साड़ी पहनने का मन बना रही हैं, तो कोटा डोरिया कपड़े की लाल, गुलाबी और नीले रंग की साड़ी पहन सकती हैं। भक्ति के मौके पर ये साडिय़ां आप पर खूब फबेंगी। इस मौके पर चंदेरी या सूती कपड़े के सूट भी पहने जा सकते हैं। मार्केट इस तरह के कलेक्शन से भरा पड़ा है। इसके अलावा अगर आप नवरात्र पर रात में दोस्तों संग घूमने का प्लान बना रहे हैं, तो ट्रेडिशनल और वेस्टर्न लुक को एक साथ पहन सकते हैं। जीन्स के साथ गुजराती स्टाइल की शीशे वाली जैकेट आप पर कमाल लगेगी। इसके अलावा आप जयपुरी प्रिंट का लहंगा-चोली भी इस खास मौके पर कैरी कर सकती हैं।

फेवरेट है पॉमपॉम स्टाइल : वेस्टर्न वेयर और फुटवेयर के बाद अब फेस्टिव सीजन में भी पॉमपॉम स्टाइल फैशन में है। लहंगा, टॉप और कुर्ती जैसे सभी एथनिक वेयर्स में पॉमपॉम स्टाइल को काफी पसंद किया जा रहा है। इस स्टाइल की ड्रेसेस के साथ मैचिंग पॉमपॉम एसेसरीज कैरी कर आप पॉमपॉम गर्ल का टाइटल पा सकती हैं।

लहंगे का फैशन : नवरात्र के दौरान गरबे के पहले दिन की शुरुआत हमेशा लाइटवेट लहंगे से करनी चाहिए, जिससे आप खुद को लंबे समय कम्फर्टेबल रख सकें। वाइब्रेंट कलर के हैवी बॉर्डर लहंगे गार्जियंस लुक के लिए बेस्ट ऑप्शन्स हैं। इसके अलावा डिजिटल प्रिंट लहंगा-चोली ऐसी लेडीज के लिए बेस्ट आउटफिट है, जो स्टाइल के साथ कंफर्ट भी चाहती हैं। डिजिटल प्रिंट होने की वजह से यह बहुत ही स्टाइलिश और आरामदायक लगता है।

फिट है बांधनी टच : गरबा आउटफिट्स में बंधेज का इस्तेमाल हमेशा से ही किया जाता रहा है। लहंगे और दुपट्टे के बॉर्डर में बंधेज का टच ट्रेंड में है। इसके अलावा चोली में भी बंधेज और गोटा वर्क अच्छा लुक देता है।

पलाजो/स्कर्ट : नवरात्र में सूती या चंदेरी सिल्क के कपड़े पर शीशे की कारीगरी और मुगल डिजाइन जैसे बाग-बगीचे के प्रिंट या मुगल वास्तुशैली के छपाई वाली स्लिट कुर्ती के साथ स्कर्ट या पलाजो आपको एक नया लुक देगा।

जैकार्ड डिजाइन वाले कुर्ते : हल्के रंग के बेल-बूटे, ज्यामितीय डिजाइन वाले जैकार्ड डिजाइन के परिधान वसंत के त्योहार में एक अलग अहसास कराते हैं। जैकार्ड डिजाइन वाले जैकेट को प्रिंटेड कॉटन अनारकली, स्लिट कुर्ती और पलाजो पैंट के साथ पहना जा सकता है।

जरी बॉर्डर वाले सूट : आप चाहें तो चमकीले सुनहरे फूलों के प्रिंट वाले या फिर रंगीन धागों की कढ़ाई और जरी के बॉर्डर वाले हल्के रंग का सूट और दुपट्टा इस्तेमाल कर सकती हैं।

नेचुरल फैब्रिक से तैयार शर्ट : नवरात्र के दौरान फेस्टिव लुक के लिए गहरे पीले या गहरे नीले रंग के हैंडलूम या अन्य नेचुरल फैब्रिक से तैयार शर्ट पहने जा सकते हैं।

इन रंगों को करें ट्राई
ऑरेंज ब्राइट : संतरी रंग के परिधान त्योहार के मौके पर बहुत अच्छे लगते हैं। आप लॉन्ग कुर्ते के साथ प्लॉजो और थ्रेड वर्क के लहंगा-चोली पहन सकती हैं।
क्लीन व्हाइट : फेस्टिवल सीजन में सफेद रंग की ओवर जैकेट पर की गई शीशे की कढ़ाई बहुत खूब लगती है। इसमें आप स्टाइलिश भी बहुत लगेंगी। आजकल साडिय़ों के साथ जैकेट वेयर करने का ट्रेंड भी चलन में हैं।
डार्क रेड : पूजा में लाल रंग के लहंगा-चोली में औरतें बहुत खूबसूरत लगती हैं। लोग पूजा के लिए इस रंग को बहुत पसंद करते हैं।
रॉयल ब्लू : कुर्ते और परंपरिक परिधान में यह रंग बहुत अच्छा लगता है। नवरात्रों में रॉयल ब्लू के कपड़े बहुत अच्छे लगेंगे।
पर्पल : यह रंग आपको रॉकिक और स्टाइलिश लुक देता है और यह आजकल काफी ट्रेंड में भी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper