नसबंदी के डेढ़ साल बाद महिला हो गई गर्भवती, सरकार से मांगा 11 लाख रुपए मुआवजा

मुजफ्फरपुर: मेडिकल साइंस के मुताबिक महिला नसबंदी गर्भनिरोध का स्थाई तरीका है। नसबंदी के बाद गर्भवती होने की तनिक भी संभावना नहीं रहती। मगर मुजफ्फरपुर में एक महिला नसबंदी के डेढ़ साल बाद गर्भवती हो गई। अब सरकार पर 11 लाख रुपए हर्जाने के लिए मुकदमा ठोक दिया है।

नसबंदी के डेढ़ साल बाद गर्भवती होने से परेशान
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मोतीपुर प्रखंड के सरकारी अस्पताल में परिवार नियोजन कार्यक्रम के तहत 27 जुलाई 2019 को फूलकुमारी ने नसबंदी कराया था। इस दौरान उसने सरकार की ओर से बताए गए सभी निर्देशों का पालन भी किया। फूलकुमारी का कहना है कि चार बच्चे हो जाने के बाद परिवार का खर्चा बढ़ गया था। इस वजह से उसने नसबंदी कराने का फैसला लिया था। मगर नसबंदी के डेढ़ साल बाद वो फिर से गर्भवती हो गई।

सरकार से मांगा 11 लाख रुपए मुआवजा
फूलकुमारी ने गर्भवती होने की शिकायत मोतीपुर अस्पताल में की। बाद में उसका अल्ट्रासांड कराया गया। अल्ट्रासाउंड में भी उसके गर्भवती होने की पुष्टि हुई। पांचवी बार गर्भवती होने की खबर से वो तनाव में रहने लगी। उसने डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाया। पांचवे बच्चे को पालने में आने वाले खर्च दिलाने के लिए मामले को कन्ज्यूमर कोर्ट में ले गई है। हर्जाने के तौर पर अदालत से 11 लाख रुपए दिलाने की मांग की है।

उपभोक्ता अदालत में 16 मार्च को सुनवाई
नसबंदी के बाद प्रेग्नेंट की शिकायत लेकर जब महिला अस्पताल गई तो किसी को यकीन नहीं हुआ था। महिला की बातें सुनकर सब हैरान रह गए। जब उसने पूरी बात विस्तार से बताई और अपनी रिपोर्ट दिखाई तो पूरा मामला सामने आ गया। महिला ने इसके लिए नसबंदी करने वाले डॉक्टर को जिम्मेदार ठहराया। उसने अदालत से 11 लाख रुपए हर्जाना दिलाने की मांग की। मामले में स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव पर भी मामला दर्ज कराया गया है। 16 मार्च को सुनवाई होगी।

नसबंदी के 6 साल बाद हो गई थी गर्भवती
इससे पहले जमुई में नसबंदी ऑपरेशन के 6 साल बाद एक महिला गर्भवती हो गई थी। उसने भी ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाकर स्वास्थ्य विभाग में शिकायत की थी। आमतौर पर माना जाता है कि नसबंदी ऑपरेशन पूरी तरह सफल है। मगर नसबंदी फेल होने पर राज्य सरकारें क्षतिपूर्ति योजना के तहत मुआवजा देती है। लेकिन वो बहुत ही मामूली होता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper