नहीं रहे रामायण के ‘आर्य सुमंत’, 97 साल की उम्र में अभिनेता चंद्रशेखर वैद्य ने ली अंतिम सांस

नई दिल्ली: रामानंद सागर की ‘रामायण’ में सुमंत का मशहूर किरदार निभाने वाले दिग्गज एक्टर चंद्रशेखर वैद्य का निधन हो गया है। वह 97 साल के थे और उन्होंने मुंबई स्थित अपने घर पर आज सुबह आखिरी सांस ली। बताया जा रहा है कि चंद्रशेखर वैद्य को किसी तरह की कोई बीमारी नहीं थी और बीते हफ्ते सिर्फ एक दिन के लिए ही उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

चंद्रशेखर वैद्य के बेटे अशोक ने बताया कि उनके पापा का निधन नींद में ही हो गया। वह बस बीते हफ्ते गुरुवार को बस एक दिन के लिए ही अस्पताल में रहे थे। उसके बाद पूरा परिवार चंद्रशेखर को घर ले आया। चंद्रशेखर के बेटे के मुताबिक, बीती रात भी उनके पापा एकदम ठीक थे, लेकिन 16 जून की सुबह 7 बजे उनका निधन हो गया। चंद्रशेखर वैद्य का आज शाम 4 बजे विले पार्ले के पवन हंस में अंतिम संस्कार किया जाएगा।

चंद्रशेखर वैद्य ने 50 और 60 के दशक में कई फिल्मों और टीवी शोज में काम किया था। कई फिल्मों में उन्होंने मशहूर किरदार निभाए। रामानंद सागर की ‘रामायण’ में सुमंत का किरदार निभाकर चंद्रशेखर वैद्य दुनियाभर में मशहूर हो गए थे। लोग उन्हें असल जिंदगी में भी सुमंत के किरदार से ही पहचानते थे।

चंद्रशेखर वैद्य ने 100 से अध‍िक फिल्‍मों में छोटे-बड़े रोल किए। लेकिन उनकी निजी जिंदगी बहुत संघर्षों से भरी रही। चंद्रशेखर वैद्य की 13 साल की उम्र में ही शादी हो गई थी। वह पढ़ना चाहते थे, लेकिन 7वीं कक्षा तक की ही पढ़ाई कर पाए। इसके बाद चंद्रशेखर वैद्य की एक्टिंग में एंट्री हो गई। उन्होंने साल 1954 में ‘औरत तेरी ये कहानी’ से ऐक्‍ट‍िंग की दुनिया में कदम रखा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper