निर्भया केस: डेथ वारंट पर रोक लगाने से कोर्ट का इंकार, पवन पहुंचा राष्ट्रपति के द्वार

नई दिल्ली: निर्भया के दोषियों ने 3 मार्च को होने वाली फांसी रोकने के लिए जितने पैंतरे चलाए वे सभी धीरे-धीरे खत्म होते जा रहे हैं। आज सुबह सुप्रीम कोर्ट से क्यूरेटिव पटीशन खारिज होने के बाद दोषी पवन ने राष्ट्रपति के पास दया याचिका दाखिल की। वहीं, पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया के दोषियों की 3 मार्च को होने वाली फांसी पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है।

अक्षय और पवन ने डेथ वॉरंट पर रोक लगाने की अपील की थी। दोषियों के वकील एपी सिंह ने यह याचिका दाखिल की थी कि डेथ वॉरंट को रोका जाए। लेकिन पटियाला हाउस कोर्ट ने निर्भया को दोषियों की याचिका खारिज कर दी है। दोषी अक्षय और पवन की तरफ से याचिका दाखिल करने वाले वकील एपी सिंह ने कोर्ट को बताया कि उन्होंने पवन की दया याचिका राष्ट्रपति के पास दाखिल किया है।

उधर, फैसला आने के बाद निर्भया की मां ने कहा कि ये लोग जानबूझकर कोर्ट को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। मैंने सात साल से ज्यादा समय तक ये लड़ाई लड़ी और आगे भी लड़ूंगी। कल दोषियों को फांसी जरूर होगी। मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक निर्भया के दोषियों को फांसी देने के लिए तिहाड़ जेल में तैयारियां भी शुरू हो गई हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper